Wonder Girl : 7 वर्षीय काशवी IQ के पैमाने पर चमत्कारी, मानसिक आयु निकली 13 वर्ष

पालमपुर। वंडर गर्ल काशवी बौद्धिक स्तर के पैमाने पर भी चमत्कारी पाई गई है। बीकेटी (बिनट कामट टैस्ट) में काशवी का आईक्यू स्कोर 13 वर्ष आयु का पाया गया है। यद्यपि काशवी की आयु मात्र 7 वर्ष है। काशवी के परिजनों के आग्रह पर किए गए बीकेटी में विशेषज्ञों की टीम ने उसका आईक्यू स्कोर 154 पाया है, जो 13 वर्ष की आयु के बच्चे के मानसिक स्तर का है। बताया जाता है कि करोड़ों में एक का आईक्यू स्कोर 147 का स्तर पाया जाता है जबकि काशवी का आईक्यू का स्तर इससे भी अधिक है। क्षेत्रीय चिकित्सालय धर्मशाला में काशवी के आईक्यू स्तर की जांच की गई है, जिसमें उसे जीनियस चाइल्ड की श्रेणी में आईक्यू के आधार पर आंका गया है।

सीधे 8वीं की परीक्षा देना चाहती है काशवी

पालमपुर की 7 वर्षीय काशवी यूं तो चतुर्थ श्रेणी की छात्रा है परंतु वह 8वीं की परीक्षा देने की तैयारी में है। अपनी अनूठी मेधा के चलते काशवी ने लॉकडाऊन के दौरान घर पर रहते हुए न केवल तीसरी कक्षा की पढ़ाई पूरी की अपितु चौथी व 5वीं कक्षा के पाठ्यक्रम को भी पूरा कर लिया। इसके पश्चात भी काशवी ने अगली कक्षाओं की पढ़ाई जारी रखी तथा अब काशवी 8वीं कक्षा की परीक्षा देना चाहती है परंतु नियम उसके आड़े आ रहे हैं। नियमानुसार 12 वर्ष की आयु में ही 8वीं की परीक्षा दी जा सकती है परंतु काशवी अभी 7 वर्ष की है, ऐसे में वह सीधे 8वीं कक्षा की परीक्षा दे सके, इसके लिए परिजनों ने प्रदेश शिक्षा बोर्ड के समक्ष मामले को रखा, वहीं मुख्यमंत्री व शिक्षा मंत्री से भी इस संदर्भ में आग्रह किया है। बताया जा रहा है कि अभी इस संबंध में औपचारिक रूप से कोई अनुमति प्राप्त नहीं हुई है।

ऐसे निर्धारित होता है आईक्यू स्कोर

आईक्यू स्कोर रेंज के अनुसार 80 से 89 का स्कोर औसत बुद्धिमता से कम माना जाता है तथा लगभग 15.7 प्रतिशत जनसंख्या में यह स्कोर औसतन पाया जाता है। 90 से 110 का स्कोर एवरेज इंटैलीजैंस की श्रेणी में आता है तथा 51.6 प्रतिशत जनसंख्या इसके अंतर्गत आती है। औसत इंटैलीजैंट से अधिक 111 से 120 का आईक्यू 15.7 प्रतिशत जनसंख्या में, जबकि 121 से 130 को रेंज गिफ्टड माना जाता है तथा मात्र 6.4 फीसदी जनसंख्या ही इसकी रेंज के अंतर्गत आती है।

Please Share this news:
error: Content is protected !!