इंदौरा में 29 फर्जी बीपीएल पकड़े; सरकारी राशन हड़पने वालों को भेजे रिकवरी नोटिस

कांगड़ा में जाली गरीब परिवारों पर प्रशासन का शिकंजा कसता जा रहा है। ताजा मामला कांगड़ा के इंदौरा से सामने आया है। यहां जब खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने जाली गरीबों की तहकीकात की तो कुल 27 ऐसे लोग सामने आए जिन्होंने सालों से सस्ता सरकारी राशन गटका है। बाकी 2 लोग ऐसे है जिन्होंने कभी सरकारी राशन नही लिया। जानकारी के मुताबिक इनमें से कई लोग सरकारी नौकरियों में उच्च सरकारी पदों पर आसीन है।

अब विभाग के सख्त हो जाने पर अब इनको या तो रिकवरी भरनी पड़ेगी या फिर कानूनी कार्यवाही का सामना करना पड़ेगा। क्योंकि इन सभी लोगों ने जानकारियां छुपा कर और गलत तरीकों से बीपीएल कार्ड बनाए थे और लगातार सस्ते सरकारी राशन खा रहे थे। कई लोग ऐसे भी है जिन्होंने कभी सरकारी राशन नही लिया। लेकिन फिर भी सभी को बीपीएल से हटा दिया गया है।

उपमंडल इंदौरा के अंतर्गत प्रशासन के दिशा निर्देशों के अनुसार खाद्य आपूर्ति विभाग ने 27 ऐसे लोगों की शिनाख्त की है, जिन्हें नियमों को ताक पर रखकर बीपीएल में शामिल किया गया था और उन्होंने अब तक लाखों रुपए के सस्ते राशन का लाभ गटक लिया है। प्रशासन से प्राप्त जानकारी के अनुसार इनमें से कई लोग न केवल सरकारी नौकरी में तैनात हैं बल्कि कई तो बड़े पदों पर आसीन हैं, जिन्हें गलत तरह से गरीबी रेखा से नीचे के परिवारों की सूची में शामिल कर बीपीएल का राशन कार्ड बनाया गया था लेकिन प्रशासन ऐसे लोगों पर शिकंजा कसने जा रहा है और अब ऐसे लोगों से उनके द्वारा लिए गए सस्ते राशन के लाभ की रिकवरी राशि भरनी होगी और रिकवरी राशि न भरने की स्थिति में उनके विरुद्ध कानूनी कारवाई अमल में लाई जाएगी।

जानकारी के मुताबिक सभी सस्ता राशन खाने वालों को रिकवरी नोटिस भेज दिए गए है।

Please Share this news:
error: Content is protected !!