कांगड़ा कोऑपरेटिव बैंक में कम हुआ 22 लाख कैश, दराज से मिले नकली नोट, मैनेजर समेत तीन सस्पेंड

ऊना। अकसर विवादों के चलते सुर्खियों में बने रहने वाले कांगड़ा कोऑपरेटिव बैंक (Kangra Cooperative Bank) की ऊना (Una) जिला मुख्यालय की मुख्य शाखा में 22 लाख रुपए का कैश कम होने की घटना से हड़कंप मच गया है।

जब मामले की जांच की गई तो दराज से नकली नोट (Fake Notes) भी मिले हैं। इस घटना के बाद बैंक प्रबंधन ने ब्रांच मैनेजर, कार्यकारी अधिकारी और कैशियर को तुरंत प्रभाव से सस्पेंड (Suspend) कर दिया है। मामले की जांच जहां पहले विभागीय तौर की जा रही थी। वहीं अब इस जांच में बैंक प्रबंधन के साथ पुलिस भी शामिल हो गई है।

बता दें कि पिछले दिनों हुई इस घटना के बाद बैंक प्रबंधन द्वारा आनन-फानन में अपने स्तर पर कार्रवाई शुरू कर मामले की जांच बिठा दी थी, लेकिन अब बैंक के एजीएम ने इसी मामले को लेकर पुलिस के पास भी शिकायत (Complaint) सौंपी है। जिसके बाद बैंक प्रबंधन के साथ-साथ पुलिस विभाग भी इस मामले की जांच में कूद पड़ा है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों कांगड़ा बैंक की मेन ब्रांच में 22 लाख रुपए का कैश कम पाया गया था। कैश कम होने की सूचना से बैंक में मचे हड़कंप के बाद आरंभिक जांच के दौरान दराज से नकली नोट बरामद होने की भी घटना सामने आ गई। जिसके चलते बैंक प्रबंधन द्वारा मामले पर जांच बैठा दी गई। इतना ही नहीं स्थानीय ब्रांच मैनेजर (Branch Manager) के साथ साथ कार्यकारी प्रभारी और कैशियर को आनन-फानन में सस्पेंड भी कर दिया गया है।

एसपी ऊना अर्जित सेन ठाकुर का कहना है कि पुलिस को बैंक के एजीएम (AGM) द्वारा बैंक के ही दराज में नकली नोट मिलने और करीब 22.40 लाख रुपए का कैश कम होने की शिकायत सौंपी गई है। पुलिस द्वारा मामले में आरंभिक जांच की जाएगी जिसके बाद इस घटना के तहत एफआईआर दर्ज करने या फिर आगामी कार्रवाई करने पर निर्णय लिया जाएगा। कैश कम होने के मामले के संबंध में पहले रिकॉर्ड को कब्जे में लिया जाएगा। वहीं बैंक के दराज से नकली नोट बरामद किए जाने की घटना की भी निष्पक्षता से जांच अमल में लाई जाएगी।

error: Content is protected !!