मंडी: ट्रक की किश्त देने के लिए चुरा ली खाद की 158 बोरियां, पुलिस ने किया गिरफ्तार

मंडी। हिमफेड के गोहर स्थित गोदाम से 10 नवंबर को खाद की 158 बोरियां चुराने के मुख्य दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों की पहचान कमलदेव निवासी राजपुरा और प्रीतम चंद गांव गसूड़ जिला बिलासपुर के रूप में हुई है।

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि ट्रक की किस्त चुकाने के लिए खाद की बोरियां चुराई हैं। पुलिस ने आरोपियों की निशानदेही पर 42 बोरियां बरामद कर ली हैं।

खाद चुराने के बाद वे बल्ह चले गए और वहां एक व्यक्ति को कुछ बोरियां बेच दीं।
पूछताछ में बताया कि तीन माह पहले आरोपी हिमफेड के गोदाम मैं सप्लाई देने आए थे। तभी वहा रेकी कर ली। गोदाम में न सीसीटीवी कैमरे हैं और न ही सुरक्षा कर्मी। इस पर उन्होंने खाद चुराने की योजना बनाई। 10 नवंबर बुधवार की रात दोनों चालक ट्रक सहित गोदाम पहुंचे और सुनियोजित तरीके से चोरी कर बल्ह चले गए। यहां एक व्यक्ति को उन्होंने कुछ बोरियां बेच दीं। पुलिस ने ट्रक को भी जब्त कर लिया है।

हिमफेड के अफसर संदेह के घेरे में
हिमफेड के अधिकारियों की सूचना भी संदेहास्पद है। चोरी की वारदात के बाद शिकायत में कहा कि 15-15-15 के 22 बैग, यूरिया के 9, एसएसपी के 11, एमओपी के 81, कैल्शियम नाइट्रेट के 20 और जिंक प्लस के 15 सहित कुल 158 बैग गायब थे। इनकी कीमत एक लाख 31 हजार रुपये बनती है। अब स्टॉक के मिलान के बाद हिमफेड दावा कर रहा है कि गोदाम से 42 बोरियां ही चुराई गई हैं। 116 बोरियां कहीं डंप मिली हैं। अब अधिकारी के बयान पर पुलिस आगामी कार्रवाई कर रही है।

10 नवंबर की रात हिमफेड के गोदाम से खाद चोरी होने की घटना पर पुलिस ने केस दर्ज किया। पुलिस टीम ने 8 दिनों की कड़ी तहकीकात के बाद सुराग पताकर चोरी में प्रयोग किए ट्रक को ट्रेस किया। उसके बाद आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। प्रारंभिक पूछताछ में आरोपियों ने बताया है कि ट्रक की किस्तों की अदायगी करने के लिए चोरी की है। जहां तक स्टॉक गोदाम पर ही कहीं डंप मिलने की बात है, पुलिस हर पहलू को ध्यान में रखकर जांच कर रही है।
-शालिनी अग्निहोत्री, एसपी मंडी

इस समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें:

error: Content is protected !!