कोरोना के चलते समय से पहले रिहा हुए 104 कैदी

देश सहित प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर कहर ढा रही है। लगातार बढ़ रहे संक्रमण के मामलों और मृत्यु के आंकड़ों में हो रही बढ़ोतरी के चलते सुप्रीम कोर्ट के आदेश अनुसार कैदियों को अंतरिम जमानत पैरोल पर रिहा कर जेलों में भीड़ कम करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं।

इस वर्ष 1 जनवरी 2021 से 30 अप्रैल 2021 तक प्रदेश में 245 पात्र दोषियों को पैरोल दी गई है जबकि 71 कैदी पैरोल पर जेल से बाहर है तथा 33 आजीवन कारावास के दोषियों को भी समय से पहले जेलों से रिहा कर दिया गया है।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश अनुसार उच्चाधिकार समिति की बैठक न्यायाधीश रवि मलिमथ वर्तमान कार्यकारी अध्यक्ष हिमाचल प्रदेश राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित की गई थी।

इस बैठक में निर्णय लिया गया कि जेलों में अत्यधिक भीड़ को रोकने और सोशल डिस्टेंसिंग के लक्ष्य को हासिल करने के लिए कैदियों को अंतरिम जमानत पैरोल पर रिहा करने के आदेश दिए गए हैं।

error: Content is protected !!