बिलासपुर के स्वाहण में आसमानी बिजली गिरने से 100 साल पुराना मंदिर खंडित

Lightning Strike On Temple, श्री नयना देवी विधानसभा क्षेत्र के स्वाहण क्षेत्र में वीरवार सुबह करीब सात बजे यहां स्थित ज्वाला माता मंदिर पर आसमानी बिजली गिर गई।

मंदिर के ऊपर स्थापित कलश पर यह आसमानी बिजली गिरी, जिससे कलश व आसपास का हिस्सा टूटकर मंदिर के अंदर आ गिरा। कलश व छत का हिस्‍सा गिरने से मंदिर परिसर को भारी नुकसान पहुंचा है। हालांकि यहां किसी व्यक्ति को किसी तरह के नुकसान की जानकारी नहीं है। पंजाब व हिमाचल के साथ लगते गांवों की यह कुलदेवी है। इस कारण यहां के लोगों को इस हादसे से एक तरह से सदमा लगा हैै। मंदिर के खंडित हो जाने से लोग काफी दुखी हैं।

बताया जा रहा है कि यह मंदिर 100 वर्षों से भी अधिक पुराना है और यहां हर वर्ष सायर का मेला भी आयोजित किया जाता रहा है। अब कुछ दिन बाद ही यहां सायर मेले का आयोजन भी होना है, लेकिन इससे पहले इस हादसे ने मंदिर को खंडित कर दिया है।

अब हादसे के बाद मेले के आयोजन को लेकर भी कई तरह के क्‍यास लगाए जा रहे हैं। मंदिर के पुजारी ने बताया कि यह मंदिर लगभग 60 फीट ऊंचा है। यहां वीरवार सुबह करीब सात बजे आसमानी बिजली गिरी है। वीरवार को सुबह से ही बादलों की गरजना हो रही थी व बिजली चमक रही थी। इस दौरान ही यह हादसा हो गया।

इस हादसे में मंदिर में स्‍थापित माता की मूर्ति को भी नुकसान पहुंचा है। वहीं, मंदिर के गुबंद की दीवारें भी क्षतिग्रस्‍त हो गई हैं। अब लोगों को मंदिर का दोबारा निर्माण करवाना पड़ेगा। बिजली गिरने से मंदिर के दरवाजे तक टूट गए हैं। माता की मूर्ति के आसपास लगाया शीशा भी टूट गया है।

इस समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया जरूर दें:

error: Content is protected !!