कुल्लू में अफीम के डेढ़ लाख पौधे बरामद, पुलिस ने पूरी खेती को किया नष्ट

ऊझी घाटी के तहत आने वाले हिमरी गांव के पास पुलिस ने नशे की खेती पकड़ी है। शीशग कुटला में छह बीघा भूमि के 20 खेतों में अफीम की बिजाई की थी। खेतों के चारों तरफ बाड़बंदी की गई थी। पुलिस ने अफीम के डेढ़ लाख पौधों को बरामद किया है।

पतलीकूहल पुलिस की एक टीम शुक्रवार को रायसन, शिरढ़ और हिमरी की तरफ गश्त पर थी। इस दौरान पुलिस को सूचना मिली थी कि हिमरी के साथ किसी ने अफीम की खेती की है। टीम जब शीशग कुटला पहुंची तो यहां सीढ़ीनुमा खेतों में अफीम की खेती मिली। पुलिस ने नशे की खेती की फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी की। मौके पर करीब छह बीघा भूमि में अफीम के डेढ़ लाख पौधे बरामद हुए। कई अफीम के पौधों में फूल खिले थे।

कई पौधों में अफीम डोडे भी निकल आए थे। इससे पहले ही माफिया के लोग इस अफीम को निकालकर बेचते तो पुलिस ने इसे पकड़ लिया। हालांकि नशे की यह खेती निजी या वन भूमि में की गई थी, इसका खुलासा निशानदेही के बाद हो सकेगा। पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह ने कहा कि पुलिस जिला कुल्लू की अलग-अलग जगहों में जाकर अफीम व भांग की खेती पकड़ रही है। अफीम की खेती को नष्ट किया गया है। उधर, इस संबंध में एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आगामी छानबीन चल रही है। इस तरह का सर्च अभियान आगे भी जारी रहेगा।

error: Content is protected !!