Right News

We Know, You Deserve the Truth…

हिमाचल प्रदेश कैबिनेट में खुला नौकरियों के पिटारा, जलशक्ति विभाग में भरे जाएंगे 2322 पद

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में मंत्रिमंडल ने जल शक्ति विभाग को राज्य में 486 पेयजल एवं 31 सिंचाई योजनाओं के प्रभावी प्रबंधन के लिए विभागीय पैरा वर्कर्स नीति के तहत विभिन्न श्रेणियों के 2322 पदों को भरने का निर्देश दिया है। मंत्रिमंडल ने आईजीएमसी शिमला के ट्रॉमा/टर्शियरी केयर सैंटर और सुपर स्पेशियलिटी ब्लॉक चमियाना में विभिन्न श्रेणियों के 401 पदों को सृजित करने और भरने और राज्य के लोगों को विशेष स्वास्थ्य देखभाल सुविधाएं प्रदान करने के लिए विभिन्न श्रेणियों के 328 पदों को आउटसोर्स के आधार पर भरने का निर्णय लिया है।

मंत्रिमंडल ने आतिथ्य उद्योग के लिए कार्यशील पूंजी ऋण पर ब्याज सबवेंशन के लिए संशोधित योजना को अपनी मंजूरी दे दी ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि पर्यटन इकाई संचालकों को मौजूदा बाजार दरों से कम ब्याज दरों पर कार्यशील पूंजी तक आसान पहुंच प्राप्त हो सके। संशोधित योजना में प्रथम वर्ष में 75 प्रतिशत ब्याज उपवर्तन का प्रावधान है और भुगतान अवधि को भी बढ़ाकर 5 वर्ष कर दिया गया है। नई योजना में रोप-वे और ट्रैवल एजैंटों जैसी कुछ अन्य श्रेणियों को भी शामिल किया गया है। मंत्रिमंडल न बच्चों की सुविधा के लिए मंडी जिले के धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र के शिक्षा खंड धर्मपुर-2 की ग्राम पंचायत सिद्धपुर के गांव खडून में प्राथमिक विद्यालय को फिर से खोलने को मंजूरी है। बैठक में उद्योग विभाग के भू-वैज्ञानिक विंग में माइनिंग गाड्र्स के 4 पदों को सीधी भर्ती के माध्यम से अनुबंध के आधार पर भरने का भी निर्णय लिया गया।

मंत्रिमंडल ने खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग में निरीक्षक ग्रेड-1 के तीन पदों को अनुबंध के आधार पर विभाग के बेहतर संचालन के लिए भरने की स्वीकृति प्रदान की। बैठक में मंडी जिले के बल्ह विधानसभा क्षेत्र के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मैरामसीत में विज्ञान की कक्षाएं शुरू करने के साथ ही विद्यार्थियों की सुविधा के लिए विभिन्न श्रेणियों के 3 पदों के सृजन का निर्णय लिया गया। मंत्रिमंडल ने क्षेत्र के छात्रों की सुविधा के लिए चम्बा जिले के डल्हौजी विधानसभा क्षेत्र में सरकारी वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बग्गी और राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय आथर में विज्ञान की कक्षाएं शुरू करने को मंजूरी दी। मंत्रिमंडल ने बिलासपुर जिले की घुमारवीं तहसील के श्री सरस्वती संस्कृत महाविद्यालय डांगर को सरकार के नियंत्रण में लेने का निर्णय लिया।

मंत्रिमंडल ने हिमाचल प्रदेश निर्वाचन विभाग में कनिष्ठ कार्यालय सहायक (आईटी) के 7 पदों को सीधी भर्ती के माध्यम से अनुबंध के आधार पर भरने का भी निर्णय लिया गया। डीसी कार्यालय चम्बा में दैनिक वेतन भोगी आधार पर चालकों के 2 पदों को भरने का भी निर्णय लिया। मंत्रिमंडल ने मंडी जिले के हिमाचल प्रदेश राजस्व प्रशिक्षण संस्थान जोगिन्द्रनगर में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के 2 पदों को दैनिक वेतन भोगी आधार पर भरने का भी निर्णय लिया। मंत्रिमंडल ने जनता की सुविधा के लिए शिमला जिले के शिलॉन बाग में नया विश्राम गृह बनाने का निर्णय लिया। बैठक में जिला मंडी के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र थुनाग को स्तरोन्नत कर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बनाने का निर्णय लिया गया। बैठक में सिस्टर निवेदिता राजकीय नर्सिंग कॉलेज शिमला में रीडर सह एसोसिएट प्रोफैसर का एक पद सृजित कर भरने का निर्णय लिया गया।

बैठक में कांगड़ा जिले के 200 बिस्तरों वाले सिविल अस्पताल नूरपुर में चिकित्सा अधीक्षक का एक पद सृजित कर भरने का निर्णय लिया गया। मंत्रिमंडल ने जनहित में ऊना जिले के पंडोगा में (200 बिस्तरों वाले), पालमपुर के परौर में राधा स्वामी सत्संग (500 बिस्तरों वाले), मंडी जिले के खलियार में राधा स्वामी सत्संग और सोलन जिले में अंजी में राधा स्वामी सत्संग (200 बिस्तर वाले) में अस्थायी अस्पतालों की स्थापना/संचालन की कार्योत्तर अनुमति देने का निर्णय लिया। मंत्रिमंडल ने प्रत्येक में 60 स्टाफ नर्स, 6 वार्ड सिस्टर्स, 30 वार्ड ब्वॉय, 20 स्वीपर, 15 सुरक्षा कर्मी, 10 हाऊसकीपिंग पर्सन और 5 डीईओ आऊटसोर्स के माध्यम से उपलब्ध कराने का भी निर्णय लिया।
मंत्रिमंडल ने कांगड़ा जिले में पशु चिकित्सा औषधालय, सिहुंड को पशु चिकित्सा अस्पताल में अपग्रेड करने के साथ-साथ इसके सुचारू संचालन के लिए 3 पदों के सृजन और भरने का भी निर्णय लिया।

मंत्रिमंडल ने मुख्य अभियंता एचपीपीडब्ल्यूडी हमीरपुर अंचल के कार्यालय में उप नियंत्रक वित्त एवं लेखा का एक पद सृजित करने की स्वीकृति प्रदान की। बैठक में ऊना जिले के गगरेट में नवनिर्मित उपमंडल निर्वाचन कार्यालय में कनिष्ठ कार्यालय सहायक (आईटी) और चतुर्थ श्रेणी के एक-एक पद सृजित करने का भी निर्णय लिया गया। कनिष्ठ कार्यालय सहायक (आईटी) का पद अनुबंध के आधार पर भरा जाएगा जबकि चतुर्थ श्रेणी का पद दैनिक वेतन के आधार पर भरा जाएगा।


Join 3,620 other subscribers

error: Content is protected !!