हिमाचल की पहली डेल्टा प्लस मरीज युवती ने कोरोना के इस नए वेरिएंट को हराया

Read Time:2 Minute, 39 Second

Himachal News: हिमाचल प्रदेश में कोरोना वायरस के डेल्टा प्लस वेरियंट का पहला केस गत दिवस पालमपुर में मिला था। कोरोना का यह वेरियंट बेहद खतरनाक है। पालमपुर की 19 वर्षीय युवती में यह वायरस मिला था। पालमपुर से जांच के लिए युवती का सैंपल भेजा गया था। अच्छी खबर यह है कि अब युवती इस वायरस से मुक्त हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग के प्रवक्ता ने यहां कहा कि प्रदेश से कोविड-19 मामलों के विभिन्न वेरियंट की जांच के लिए 1113 सैंपल राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र दिल्ली भेजे गए थे। उन्होंने कहा कि एनसीडीसी से प्राप्त 826 सैंपलों की ताजा रिपोट्र्स में एक मामला कोविड पाॅजिटिव डेल्टा प्लस पाया गया था।

उन्होंने बताया कि यह सैंपल जीनोम जांच के लिए मई 2021 में लिया गया था। वर्तमान में युवती कोविड-19 संक्रमण से स्वस्थ हो गया है। उन्होंने कहा कि इस कोविड संक्रमित के संपर्कों के सैंपल जीनोम जांच के लिए भेजे गए है। प्रवक्ता ने कहा कि डेल्टा स्ट्रेन के कुल 218 मामले सामने आए हैं। इसके अलावा, इन सैंपलों में एक मामला दक्षिण अफ्रीकी स्ट्रेन, 111 सैंपलों में यूके स्ट्रेन, 9 सैंपलों में कापा स्ट्रेन और 36 सैंपलों में अन्य म्यूटेशन के लक्षण बताए गए है, जबकि 287 सैंपल की रिपोर्ट आना अभी शेष है।

उन्होंने कहा कि गत 28 जून, 2021 को एनसीडीसी से 193 सैंपलों की रिपोर्ट्स प्राप्त हुई थी, जिसमें डेल्टा प्लस का कोई भी मामला नहीं पाया गया था। उन्होंने कहा कि कोविड-19 का संभावित खतरा अभी बना हुआ है, इसलिए लोगों को कोविड-19 महामारी की संभावित तीसरी लहर को रोकने और इसके प्रभाव को कम करने के कोविड अनुरूप व्यवहार और समय पर इस संबंध में जारी दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन सुनिश्चित करना चाहिए।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!