Right News

We Know, You Deserve the Truth…

11 दिन की लड़ाई के बाद पहली बार सामने आया हमास का शीर्ष नेता, निकाली परेड

इजरायल (Israel) के साथ 11 दिन तक चली लड़ाई के बाद हमास (Hamas) के लड़ाकों ने शनिवार को गाजा सिटी में राइफलें लहराकर शक्ति प्रदर्शन किया और समूह का शीर्ष नेता पहली बार सार्वजनिक रूप से सामने आया. शनिवार पूर्ण रूप से संघर्ष विराम का पहला दिन था (Israel Hamas Dispute). इस दौरान मिस्र के वार्ताकारों ने संघर्ष विराम को टिकाऊ बनाने के लिए वार्ताएं कीं. ग्यारह दिन की लड़ाई के दौरान इजरायल ने गाजा में हमास के सैकड़ों ठिकानों को निशाना बनाया.

इजरायल की ओर से हवाई हमए किए गए, तो हमास और अन्य उग्रवादी समूहों ने इजरायल की ओर चार हजार से अधिक रॉकेट दागे.

इस दौरान 250 से अधिक लोगों की मौत हुई, जिनमें ज्यादातर फलस्तीनी थे. इजरायल और हमास दोनों अपनी-अपनी जीत के दावे कर रहे हैं. शनिवार को सेना की वर्दी पहने हमास के सैकड़ों लड़ाकों ने परेड निकाली और लड़ाई के दौरान अपने वरिष्ठ कमांडर बासिम ईसा की मौत पर शोक व्यक्त किया. गाजा में हमास का शीर्ष नेता येहियेह सिनवार (Yehiyeh Sinwar) लड़ाई शुरू होने के बाद से पहली बार सार्वजनिक रूप से सामने आया.

सेना ने घर पर किया था हमला

सिनवार वही है जिसके घर पर इजरायली सेना ने स्ट्राइक की थी, जिसमें उसका घर तबाह हो गया था. इजारयली सेना ने खुद सिनवार के घर पर हमला करने की जानकारी दी थी (Israel Hamas War Latest News). सेना के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल हिदाई जिल्बरमैन ने कहा था कि सेना के रेडियो को बताया गया है कि गाजा में हमास के सबसे वरिष्ठ नेता येहियेह सिनवार के घर को निशाना बनाया गया है, जो संभवत: वहां छिपा था. येहियेह सिनवार का घर गाजा पट्टी के दक्षिण में खान युनूस शहर में स्थित है (Israel Hamas Conflict). हमास के करीब 20 लड़ाकों के मारे जाने की खबर भी है.

पुलिस-प्रदर्शनकारियों में झड़प

इजारयल और हमास के बीच लड़ाई शुरू होने से पहले इजरायली पुलिस और फलस्तीनी प्रदर्शकारियों के बीच झड़प हो गई है. ये झड़प अल-अक्सा मस्जिद के परिसर में हुई थी (Israel Hamas News Today). जिसके बाद हमास की ओर से इजरायल पर रॉकेट दागे गए. यहां (इजरायल में) भी 12 लोगों की मौत हो गई हैं, जिनमें दो बच्चे शामिल हैं. हालांकि गाजा के मुकाबले इजरायल को कम नुकसान इसलिए हुआ है क्योंकि उसके एयर डिफेंस सिस्टम आयरन डोम ने बीच हवा में ही हमास के रॉकेट मार गिराए थे, जिसमें11 तारीख को थोड़े समय के लिए हुई खराबी के कारण कुछ रॉकेट रोके नहीं जा सके थे.

error: Content is protected !!