कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने पूरे देश में तबाही मचा दी है। एक तरफ जहां लोग सोशल मीडिया पर एक-दूसरे की मदद कर रहे हैं। एक दूसरे के लिए दवाईयों, ऑक्सीजन और बेड उपलब्ध करा रहे हैं वहीं दूसरी तरफ कुछ ऐसे भी लोग हैं जो इस आपदा के समय में अपना फायदा ढ़ूढ़ रहे हैं और लोगों की मजबूरियों का फायदा उठा रहे हैं। गुजरात में प्रशासन ने नकली रेमडेसिविर बनाने वाले लोगों के एक गिरोह का पर्दा फाश किया और नकली दवाईयां जब्त की हैं।

बता दें कि गुजरात में जब्त किए गए नकली रेमेडिसविर इंजेक्शन की 2,73,000 खुराक बरामद की गई हैं। इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट में मामले से जुड़ी वीडियो और फोटो साझा करते हुए एक इंस्टाग्राम यूजर ने लिखा, “आपको एक मर्डरर की तरह महसूस करना चाहिए जिस तरह से मैं अभी महसूस कर रहा हूं। जब हम एक दूसरे की मदद करने की कोशिश कर रहे थे, भगवान जानता है कि मदद को लेकर मिली वो लीड सही थीं भी या नहीं! प्रिटिंग से पैकेजिंग तक परिवहन और वितरण तक सब कुछ पूरी तरह सेट! नकली रेमडेसिविर की 2 लाख 73 हज़ार खुराकें जब्त की हैं!

error: Content is protected !!