Right News

We Know, You Deserve the Truth…

कोरोना बढ़ने के लिए सरकार और नेता जिमेवार- पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार

हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार ने कहा है कि कोरोना के कहर से पूरा देश दहल रहा है। सबसे अधिक दुर्भाग्य की बात यह है कि इस बार कोरोना बढ़ने की सबसे अधिक जिम्मेदारी सरकार और नेताओं की है। जनता भी लापरवाही के लिए एक सीमा तक जिम्मेदार है। पिछले 15 दिनों में बंगाल में कोरोना के रोगी पांच गुणा बढ़ थे। चुनाव के सभी प्रदेशों में यह कहर बढ़ रहा है।

उन्होंने कहा कि हमारे शास्त्रों में कहा है ”आपातकाले मर्यादा नासति“ इसका सीधा सा अर्थ है कि जब जिन्दगी ही दांव पर लगी हो तो सभी नियम मर्यादायें तोड़ी जा सकती है। आज की परिस्थिति में कुम्भ करने की बिलकुल आवष्यकता नही थी। हजारों लोग इकटठे नहा रहे है। बिमारी बढ़ेगी। मन्दिरों में भीड़ इकटठी होती रही – बिमारी बढ़ती रही। भगवान तो हर जगह है हमारे घर में भी है। यदि सब प्रकार के धार्मिक और राजनैतिक कार्यक्रम बन्द कर दिये गये होते तो इस बिमारी से बहुत राहत मिलती।

शांता कुमार ने कहा एक सीमा तक आर्थिक गतिविधियां जारी रहनी चाहिए। इसके अतिरिक्त आज की परिस्थिति में सब प्रकार के धार्मिक सामाजिक और राजनैतिक कार्यक्रम नही होने चाहिए।

उन्होने हिमाचल प्रदेष के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से विशेष आग्रह किया कि सभी नेताओं के दौरे बन्द किये जाए। मंत्री और नेता कार्यालय में बैठकर शायद अधिक काम कर सकते है। आवष्यकता होने पर वच्र्युल कार्यक्रम भी हो सकते है। यह बिमारी रूकने वाली नही है। सावधानी के नियमों का जनता द्वारा पालन करवाने के लिए सरकार को सख्ती शुरू करनी चाहिए। जुर्मना की राशि बढ़नी चाहिए। जीवन ही दांव पर लगा है। हर आवष्यक कदम तुरन्त उठाया जाना चाहिये।

error: Content is protected !!