गोरखपुर: वर्दी का धौंस दिखाकर आम जनता को झूठे केस में फंसाकर पैसे वसूलना तो आम हो गया है। लेकिन ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले से सामने आया है, जोकि हैरान करने वाला है। यहां एक शख्स ने वीडियो वायरल कर दारोगा के ऊपर झूठे केस में फंसाने और पैसे वसूलने का आरोप लगाया है। इस मामले में एसओ का कहना है कि रिपोर्ट तैयार कर मामले की जांच की जा रही है।

थाने पर बैठाए रहे दारोगा
गोरखपुर के गोला थाना क्षेत्र सेमरी गांव निवासी दीपक तिवारी ने एक वीडियो वायरल किया है। इसमें वह कह रहे हैं कि दो दिन पहले दारोगा विवेक शुक्ला से मिलने उनके आवास पर गए थे। इस दौरान दारोगा ने उन्हें बताया कि तुम एक मुकदमे में वांछित हो और यह कहते हुए पैसे की मांग की। जब दीपक ने दारोगा से पूछा कि किस मामले में वह आरोपी हैं तो तिलमिलाए और मारपीट पर उतारू हो गए। झूठे केस में थाने ले गए और कार को अपने आवास पर खड़ा करा लिया। पीड़ित ने बताया कि इस दौरान दारोगा दो रात और एक दिन थाने पर बैठाए रखा और 10 हजार रुपये लेकर मुझे छोड़ा। वहीं, कार को छोड़ने के लिए 30 हजार रुपये और मांग रहे हैं।

आरोप निराधार हैं

इस संबंध में दारोगा विवेक शुक्ला का कहना है कि जो व्यक्ति वीडियो वायरल कर रहा है। वह एक मुकदमे में वांछित है। उसके द्वारा लगाए गए सभी आरोप निराधार हैं। वहीं, इस मामले में गोला एसओ ने बताया कि वायरल वीडियो को संज्ञान में लेते हुए दारोगा के खिलाफ जांच के लिए एक रिपोर्ट तैयार की गई है। जांच के बाद जो दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

error: Content is protected !!