गूगल ट्रांसलेट अब और समृद्ध, 19 भारतीय भाषाएं शामिल

RIGHT NEWS INDIA: जानकारियों और हमारे बीच से भाषा की दीवार को तोड़ने में अहम भूमिका निभाने वाला गूगल ट्रांसलेट अब और समृद्ध हो रहा है। गूगल ने अपनी ट्रांसलेशन सुविधा में संस्कृत, भोजपुरी, असमी और कोंकणी समेत आठ और भारतीय भाषाओं को जोड़ने की बात कही है।

इस सूची में गूगल 16 अन्य विदेशी भाषाओं को भी जोड़ेगा। इस अपडेट के बाद गूगल ट्रांसलेट पर 133 भाषाओं में अनुवाद संभव हो जाएगा। कंपनी ने अपने वार्षिक सम्मेलन गूगल आइ/ओ 2022 में इसका एलान किया है।

संस्कृत के लिए आए सबसे ज्यादा अनुरोध

गूगल रिसर्च के सीनियर साफ्टेवयर इंजीनियर आइजेक कैसवेल का कहना है कि गूगल ट्रांसलेट में संस्कृत को जोड़ने के लिए सबसे ज्यादा अनुरोध आए हैं। अब कंपनी ने इसे ट्रांसलेशन की सूची में शामिल करने का फैसला किया है। संस्कृत के अलावा असमिया, भोजपुरी, मणिपुरी, कोंकणी, डोंगरी, मैथिली और मिजो में भी अनुवाद की सुविधा दी जाएगी। इस अपडेट के साथ कुल 19 भारतीय भाषषाओं में अनुवाद का विकल्प मिलने लगेगा। अनुवाद संबंधी गलतियों को दूर करने की दिशा में भी कंपनी काम कर रही है।

गूगल ग्लास 2.0 की तैयारी

आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआइ) से लैस गूगल ग्लास के विफल प्रयोग के एक दशक बाद कंपनी फिर इस दिशा में काम कर रही है। गूगल आइ/ओ 2022 में गूगल की मूल कंपनी एल्फाबेट इंक ने फिर इस तरह का एक प्रोडक्ट प्रदर्शित किया है। इसका अभी नाम नहीं तय किया गया है।

गूगल ग्लास की तरह ही यह भी एआइ से लैस चश्मा होगा, जो आपके सामने लिखी बातों का अनुवाद करेगा। अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि इसमें गूगल ग्लास की तरह कैमरा होगा या नहीं।

Other Trending News and Topics:

Comments:

error: Content is protected !!