Right News

We Know, You Deserve the Truth…

अब गूगल एआई पहचानेगा स्किन से जुड़ी 288 बीमारियां, गूगल ने जारी किया गूगल हेल्थ टूल

Google AI Health टूल 288 तरह की स्किन से जुड़ी बीमारियों को पहचानने में सक्षम है. AI टूल स्किन की कंडीशन के आधार पर बताएगा कि आखिर कौन सी बीमारी हो सकती है. इसके लिए यूजर्स को घर से बाहर जाने की जरूरत नहीं होगी

हेल्थ टूल स्किन देख बताएगा, क्या है बीमारी

आजकल सबसे ज्यादा सुर्खियां गूगल का हेल्थ टूल बटोर रहा है। कंपनी का यह नया टूल किसी स्कीन स्पेशिलिस्ट की तरह काम करेगा। कंपनी ने बताया कि यह टूल यूजर को त्वचा की कुछ स्थितियों की पहचान करने में सक्षम बनाएगी। इसका उपयोग करने के लिए, आपको बस स्मार्टफोन के कैमरे को अपनी संबंधित त्वचा की ओर प्वाइंट करना होगा। उसके बाद यह तीन अलग-अलग एंगल से तस्वीरों कैप्चर करना होगा। फिर आपसे आपकी त्वचा के प्रकार के बारे में प्रश्न पूछे जाएंगे, जैसे कि आपको कितने समय से समस्या है और अन्य लक्षण, जो टूल को सटीक समस्या पता लगाने में मदद करेगा। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंट्स टूल तब तस्वीरों का विश्लेषण करके आपको बताएगा कि आप किस स्किन कंडीशन (त्वचा संबंधी बीमारी) से पीडि़त हैं। गूगल ने यह भी उल्लेख किया कि टूल को 288 अलग-अलग स्किन कंडीशन को पहचानने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

आ गया डॉक्टर गूगल
By: Website 2 May 20th, 2021 12:01 am

हेल्थ टूल स्किन देख बताएगा, क्या है बीमारी

आजकल सबसे ज्यादा सुर्खियां गूगल का हेल्थ टूल बटोर रहा है। कंपनी का यह नया टूल किसी स्कीन स्पेशिलिस्ट की तरह काम करेगा। कंपनी ने बताया कि यह टूल यूजर को त्वचा की कुछ स्थितियों की पहचान करने में सक्षम बनाएगी। इसका उपयोग करने के लिए, आपको बस स्मार्टफोन के कैमरे को अपनी संबंधित त्वचा की ओर प्वाइंट करना होगा। उसके बाद यह तीन अलग-अलग एंगल से तस्वीरों कैप्चर करना होगा। फिर आपसे आपकी त्वचा के प्रकार के बारे में प्रश्न पूछे जाएंगे, जैसे कि आपको कितने समय से समस्या है और अन्य लक्षण, जो टूल को सटीक समस्या पता लगाने में मदद करेगा। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंट्स टूल तब तस्वीरों का विश्लेषण करके आपको बताएगा कि आप किस स्किन कंडीशन (त्वचा संबंधी बीमारी) से पीडि़त हैं। गूगल ने यह भी उल्लेख किया कि टूल को 288 अलग-अलग स्किन कंडीशन को पहचानने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

एक बार जब टूल तस्वीरों को प्रोसेस करता है, तो यूजर को उन कंडीशंस की लिस्ट दिखाई जाती है, जो लागू हो सकती हैं। गूगल ने अपने ऑफिशियल ब्लॉग पोस्ट में कहा कि इस टूल का उद्देश्य न ही निदान प्रदान करना है और न ही चिकित्सा सलाह का विकल्प होना है, क्योंकि कई स्थितियों में क्लीनिकल रिव्यू, इन-पर्सन एग्जामिनेशन और बायोप्सी जैसे एडिशनल टेस्टिंग की जरूरत होती है। बल्कि हमें उम्मीद है कि यह टूल आपको आधिकारिक जानकारी तक पहुंच प्रदान करेगा ताकि आप अपने अगले कदम के बारे में अधिक सूचित निर्णय ले सकें।

टीबी की भी होगी जांच
गूगल ने यह भी घोषणा की कि वह टीबी के रोगियों की जांच के लिए टूल बनाने के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंट्स का उपयोग कर रहा है। कंपनी ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा कि बीमारी को जल्दी पकडऩे में मदद करने और अंतत: इसे खत्म करने की दिशा में काम करने के लिए गूगल शोधकर्ताओं ने एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंट्स आधारित टूल विकसित किया है, जो संभावित टीबी रोगियों की पहचान करने के लिए मेडिकल इमेजिंग का काम करेगा।

error: Content is protected !!