सोमवार शाम को नेरवा में हुए एक दर्दनाक कार हादसे में चार घरों के चिराग बुझ गए।  पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक एक कार (एचपी-08ए-1599) नेरवा से सांडली की तरफ जा रही थी कि डुंडी मंदिर से आगे नेरवा कालेज से करीब तीन सौ मीटर पहले चालक के नियंत्रण खो देने से ढांक में लुढ़क गई। कार कालेज मार्ग की तीसरी कैंची से लुढ़क कर पहली कैंची के नीचे सड़क पर जा गिरी। कार में चार लोग सवार थे, जिनमें तीन सांडली निवासी एवं एक बोहराड़ निवासी था। ये सभी अभागे नेरवा से अपने-अपने घरों को तरफ जा रहे थे। हादसा इतना भयानक था कि कार के परखचे उड़ गए और कार में सवार चारों की हादसा स्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई। प्रत्यक्षदर्शियों ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि कार को सुरेंदर सिंह गांग चला रहा था। मृतकों की पहचान गांव सांडली के मोहिंदर सिंह ठाकुर (40) पुत्र स्वर्गीय नारायण सिंह ठाकुर, काना सिंह ठाकुर (40) पुत्र स्वर्गीय जालम सिंह, सुनील ठाकुर पुत्र भीम सिंह ठाकुर के अलावा बोहराड गांव के सुरेंदर सिंह गांग (33)पुत्र हेत राम गांग के रूप में हुई है।

एसडीपीओ चौपाल राज कुमार ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि नेरवा थाने में मामला दर्ज कर हादसे के कारणों की जांच शुरू कर दी गई है। प्रशासन की तरफ से मृतकों के परिजनों को तहसीलदार नेरवा अरुण कुमार ने 15-15 हजार रुपए की फौरी राहत दी। शवों को नेरवा अस्पताल में पोस्टमार्टम के उपरांत परिजनों के हवाले कर दिया गया है। उधर, इस हादसे के बाद नेरवा में शोक की लहर दौड़ गई है। चौपाल के पूर्व विधायक डा. सुभाष चंद मंगलेट, पूर्व विधायक योगेंद्र चंद एवं पूर्व में चौपाल से कांग्रेस प्रत्याशी रहे कंवर उदय सिंह ने हादसे पर गहरा शोक प्रकट करते हुए मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदनाएं प्रकट की हैं।

error: Content is protected !!