गोवा में खुली भारत की पहले सेक्स टॉय शॉप पर ताला लग गया है। स्थानीय पंचायत के ऐतराज के बाद एक महीने बाद ही दुकान का शटर डाउन करना पड़ा है। केलंग्यूट में कामा गिजमोस नाम की इस दुकान का उद्घाटन वेलंटाइंस वीक के दौरान हुआ था। 

इंडियन एक्सप्रेस की एक रिपोर्ट के मुताबिक, दुकान खुलते ही इसका विरोध शुरू हो गया था। स्थानीय पंचायत ने इस दुकान और यहां बिकने वाले सामानों पर आपत्ति जाहिर की थी। ऑनलाइन सेक्स टॉय स्टोर गिजमोसवाला और सेक्सुअल वेलनेस स्टोर चेन कामाकार्ट ने जॉइंट वेंचर के रूप में भारत के पहले ऑफलाइन सेक्स टॉय स्टोर और सेक्सुअल वेलनेस स्टोर की शुरुआत की थी। 

रिपोर्ट के मुताबिक, पंचायत ने सेक्स टॉय शॉप के लाइसेंस का मुद्दा उठाया था। कामा गिजमोस के पार्टनर प्रवीन गणेशन ने कहा कि मुद्दा ‘गहरा’ है। केलंग्यूट के सरपंच दिनेश सिमेपुरुस्कार ने कहा कि उन्हें स्थानीय लोगों से कई शिकायतें मिली हैं, क्योंकि यह लोकप्रिय पर्यटन स्थल के बाजार में हैं। 

सरपंच ने कहा कि हमें शिकायत मिली थी कि इस दुकान के पास सही लाइसेंस नहीं है। इसलिए इसे बुधवार को बंद कर दिया गया और इसके बोर्ड और होर्डिंग्स को भी हटा दिया गया है। सरपंच ने कहा, ”वे सेक्स से संबंधित चीजें बेच रहे थे और हमें पुरुष और महिलाएं सभी शिकायत दे रहे थे। लोगों ने सोशल मीडिया पर भी इसके खिलाफ आवाज उठाई थी। चूंकि यह एक गली में था इसलिए सभी ने इसे पहले नहीं देखा था। हम इस तरह की गतिविधियों को नहीं होने देना चाहते।”

कामाकार्ट के अधिकारियों ने कहा है कि सेक्स टॉय के लिए लाइसेंस लेने की प्रक्रिया चल रही है और इसलिए पंचायत ने कुछ दिनों के लिए दुकान बंद रखने को कहा है। हालांकि, उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि उन्हें निशाना बनाया जा रहा है क्योंकि वे बाहर के हैं, गोवा के नहीं। दुकान के मालिकों को उम्मीद है कि यह दोबारा खुलेगी।

error: Content is protected !!