जिला मंडी में एक भीषण आगजनी का मामला सामने आया है। यहां जोगिंद्रनगर में आधी रात को बिजली के पोल में अचानक आग भड़क गई। आग अपनी चपेट में आसपास के रिहाइशी मकानों को लेने लगी। गनीमत रही कि बड़ा हादसा होते-होते टल गया। लेकिन शहर में आधी रात को बिजली के खंभें में आग लगने से माहौल दहशत भरा रहा। जानकारी के अनुसार बिजली की चिंगारी देख कर आसपास के लोगों की नींद उड गई। खौफ के साये में लोगों ने रात जागकर गुजारी। हादसा सोमवार देर रात पठानकोट चौक में पेश आया।

आग लगने का एक कारण शाट सर्किट भी बताया जा रहा है। पुलिस की टीम जो नाकाबंदी के लिए पठानकोट चौक में तैनात थी इस भयानक मंजर को देखकर सहम उठे। हज़ारों का नुकसान बिजली विभाग को पंहुचा हैं। बता दें कि सोमवार को भारी बारिश के साथ आसमानी बिजली की गर्जना भी खूब रही और अचानक बिजली के खंभे में आग लगने से शहर अफरा तफरी फैल गई। जोगिंद्रनगर में देर रात घटी इस घटना में हाईवे पर वाहनों की रफतार भी थम गई। बिजली के खंभे पर लगी आग से हादसे के अंदेशे को देखते हुये मौके पर मौजूद पुलिस ने सड़क के दोनों और आवागमन करने वाले सभी वाहनों को काफी समय तक रोके रखा। इस घटना की सूचना दमकल विभाग को दी गई। करीब 30 मिनट की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका।

दमकल प्रभारी शेर सिंह सकलानी ने बिजली के खंभे में लगी आग की घटना की पुष्टि करते हुये बताया कि आग पर काबू पाने के लिए पुलिस और दमकल के जवानों अपनी जान पर भी जोखिम उठाया। जिस कारण बडा हादसा टला।  बिजली विभाग के सहायक अभियंता शिव कुमार ने बताया कि उन्हें देर रात बिजली के पोल में आग लगने की सूचना जैसे ही मिली उनहोने सबसे पहले शहर बिजली को बंद करवाया।

error: Content is protected !!