Right News

We Know, You Deserve the Truth…

MP के पूर्व CM ने महामारी को इंडियन कोरोना कहा था, BJP विधायकों की शिकायत पर केस दर्ज

मध्य प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ कोरोना को लेकर विवादास्पद बयान देकर मुश्किल में पड़ गए हैं। कमलनाथ ने वैश्विक महामारी को इंडियन कोरोना बताया था। BJP विधायकों की शिकायत पर क्राइम ब्रांच भोपाल ने रविवार रात कमलनाथ के खिलाफ साइबर क्राइम के तहत मामला दर्ज कर लिया है। वहीं, शिवराज सिंह की सरकार के मंत्री विश्वास सारंग ने कमलनाथ के बयान को देशद्रोह बताया है।

BJP विधायकों ने शिकायत में कहा था कि कमलनाथ ने देश के सम्मान में चोट पहुंचाई है। ऐसा बयान देना राष्ट्रद्रोह के समान है। उनके कारण देश की छवि धूमिल हुई है। शिकायत करने वालों में मंत्री विश्वास सारंग के अलावा विधायक कृष्णा गौर, रामेश्वर शर्मा और पूर्व महापौर आलोक शर्मा समेत अन्य नेता शामिल थे।

कमलनाथ ने उज्जैन में बयान दिया था
शिकायत में कहा कि कमलनाथ ने 21 मई को उज्जैन दौरे पर कहा था कि विदेशों में भारतीयों के साथ दुर्व्यवहार किया जा रहा है। विदेशी मीडिया भारत में कोरोना को इंडियन वैरिएंट बता रहे हैं। ब्रिटेन में इंडियन ड्राइवर्स की टैक्सी में कोई नहीं बैठ रहा है। इससे पहले कमलनाथ ने आरोप लगाया था कि MP सरकार कोरोना से हो रही मौतों के आंकड़े छिपा रही है।

कमलनाथ के काम देशद्रोह की श्रेणी में आते हैं
विश्वास सारंग ने कहा कि कोरोना को लेकर जिस तरह से नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने बिना किसी जानकारी के भ्रामक प्रचार कर हिंदुस्तान का नाम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बदनाम करने की कोशिश की है। साथ ही कांग्रेस विधायकों की वर्चुअल मीटिंग में उन्होंने जिस तरह किसानों को भड़काने और आग लगाने की चर्चा अपने विधायकों से की, उसके सबूत मीडिया और पुलिस को मिले हैं। आज इन दोनों बातों को लेकर पुलिस में यह शिकायत की है। कमलनाथ के यह सभी काम देशद्रोह की श्रेणी में आते हैं।

कमलनाथ देश में माहौल बिगाड़ना चाह रहे
सारंग ने कहा कि WHO (विश्व स्वास्थ्य संगठन) कह रहा है कि यह कोरोना इंडियन वैरिएंट नहीं है, लेकिन कमलनाथ को कहां से यह दिव्यज्ञान प्राप्त हुआ नहीं मालूम। इंडियन वैरिएंट कह देना यह सिर्फ एक बयान नहीं है, बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हिंदुस्तान की छवि को बिगाड़ने वाला बयान है। उन्होंने यह देशद्रोह का काम किया है। कांग्रेस ने हमेशा ही यह साबित किया है कि उस पार्टी ने भारत में माहौल बिगाड़ने का काम किया है। वैसे भी कमलनाथ के हाथ 1984 के दंगों से सने हुए हैं। कमलनाथ के खिलाफ FIR दर्ज कराने के लिए प्रदेशभर में कार्यकर्ताओं ने आवेदन दिया है।

कमलनाथ ने क्या कहा था?
कमलनाथ ने कहा था कि जब जनवरी 2020 में कोरोना आया, तो इसे हम चाइनीज कोरोना कहते थे। कहा जा रहा था कि ये चीन की लैबोरेटरी में बना है और ये किसी एक शहर से आया है। आज हम कहां पहुंचे हैं? ब्रिटेन के पीएम ने भारत से फ्लाइट इसलिए कैंसिल की हैं कि इंडियन कोरोना आ जाएगा। उन्होंने छात्रों और वहां काम कर रहे भारतीयों को इस डर से रोक दिया है कि वे इंडियन कोरोना ला सकते हैं। दुनियाभर में देश इसीलिए पहचाना जा रहा है। भूल जाइए, अब हमारा देश महान थोड़ी है, अब मेरा भारत कोविड का बन चुका है।

error: Content is protected !!