रौटा थाना क्षेत्र के खपड़ा पंचायत वार्ड संख्या दस कोल सिंघारी में विगत जून 2020 में हुए एक युवती के हत्याकांड के मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद कांड में टर्निंग प्वाइंट आ गया है। इस हत्याकांड में आवेदन देकर हत्या का मामला दर्ज कराने वाले मृतका के पिता और उसके परिजन ही इस कांड के मुख्य सूत्रधार निकले। 

सूत्रों के अनुसार मृतका के पिता रकीम के द्वारा घटना के बाद रौटा थाने में आवेदन देकर 19 वर्षीय पुत्री का उसके प्रेमी के परिजनों पर मारपीट कर हत्या करने का मामला दर्ज कराया था। दर्ज मामले में मृतका के पिता के पिता ने कहा था उसकी पुत्री का गांव के ही एक युवक के साथ एक साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। अक्सर वे मिलते जुलते भी थे।

गुरुवार को प्रेमी के बुलाने पर उसकी पुत्री मिलने गई। जहां प्रेमी के परिजनों ने प्रेमी को वहां से भगा दिया और उसकी पुत्री को मार-मार कर अधमरा कर दिया। किसी तरह पुत्री घर आकर अपनी दास्तान सुनाई। बुरी तरह से मारपीट करने के कारण पुत्री की दूसरे दिन मौत हो गई। इसे लेकर पंचायत बुलाई गई। 

पंचायत में गरीब और लाचार समझकर उसके प्रेमी को दो चार चप्पल मारते हुए छोड़ दिया गया। इस संबंध में थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने बताया कि मृतका के पिता के आवेदन पर मामला दर्ज करने के बाद पुलिस अनुसंधान में जुट गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद इस घटना में मृतका के पिता व उसके परिजनों ही इस हत्याकांड के सूत्रधार मिले।

इसे लेकर बीती रात छापेमारी कर मृतका के पिता रकीम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। वहीं अन्य परिजनों की तलाश पुलिस सरगर्मी के साथ कर रही है। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि मृतका की मौत गर्दन के मुड़ने से हुई है।

error: Content is protected !!