थाना हरोली के तहत हलेड़ा बिलना में हुई मारपीट के मामले में पुलिस द्वारा कार्रवाई न किए जाने से नाराज पीड़ित परिवार बुधवार को पुलिस को जगाने के लिए थाना परिसर जा पहुंचा। इस दौरान पीड़ित परिवार ने न केवल अपना दर्द थाना प्रभारी हरोली से सांझा किया बल्कि आरोपियों के खिलाफ जल्द से जल्द कार्रवाई करने की मांग उठाई। थाना प्रभारी से मिलने पहुंचे परिवार में घायल युवक भी साथ रहा, जिसके सर पर पट्टी बंधी हुई थी। पीड़ित महिला हरजिंदर कौर ने बताया कि 22 मार्च की रात को जब हम सोए हुए थे तो पड़ोस के आधा दर्जन लोग दीवार फांद कर घर में घुस आए और तोड़फोड़ की।

हरजिंदर कौर ने बताया कि तोड़फोड़ की आवाज सुनकर जब वह बाहर निकली तो पड़ोसियों ने गाली-गलौच के साथ मारपीट शुरू कर दी। महिला का आरोप है कि जब उसने उनका विरोध किया तो उन्होंने उसके कपड़े तक फाड़ डाले। भाभी के साथ मारपीट और दुर्व्यवहार होते देख हरजिंदर कौर का देवर दलजीत सिंह भी मौके पर जा पहुंचा। भाभी के बचाव को पहुंचे दलजीत सिंह को भी पड़ोसियों ने पीटना शुरू कर दिया। इस मारपीट में जहां दलजीत के सिर पर चोट लगी, वही भाभी को भी चोटें पहुंची हैं। मामले की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और जांच शुरू कर दी। वहीं घायल का क्षेत्रीय अस्पताल ऊना में उपचार करवाया गया, जहां से उसे पीजीआई रैफर कर दिया गया। पीड़ित परिवार का आरोप है कि पुलिस ने घटना को लेकर ठोस कार्रवाई नहीं की है, जिसके चलते हरोली थाना आकर इंसाफ की गुहार लगानी पड़ रही है।

वहीं डीएसपी हरोली अनिल मेहता ने कहा कि पुलिस ने घटना के संबंध में केस दर्ज कर लिया है और मामले की गहनता से जांच की जा रही है। पीड़ित परिवार के लोग उनसे मिलने आए थे, उन्हें घटना के संबंध में कार्रवाई का भरोसा दिलाया गया है और पुलिस इस मामले में उचित कार्रवाई अमल में लाएगी, किसी के साथ कोई पक्षपात नहीं किया जाएगा।

You have missed these news

error: Content is protected !!