रविवार रात को जिले की चुराह घाटी की जुनास पंचायत के तहत सुइला गांव में पुराने लकड़ी के मकान में लगी भीषण आग के चलते एक ही परिवार के चार सदस्यों पति, पत्नी और 2 बच्चों की असामयिक मृत्यु हो गई। आग लगने से 9 मवेशी भी जल गए। इस दुर्घटना में देस राज(28), डोलमा (26), रितिक (5) और मनोज(3) की मृत्यु हुई है। गनीमत यह रही इस अग्निकांड में दादी व पोता सुरक्षित बच गए। देसराज के परिवार का सदस्य बच गया। जिस समय मकान में आग लगी, उस वक्त देसराज का सात वर्षीय बड़ा बेटा अपनी दादी के साथ मकान के दूसरे कमरे में सो रहा था। देसराज अपनी पत्नी व अन्‍य दो बच्चों के साथ अन्य कमरे में सो रहा था।

आग लगने की भनक लगते ही देसराज का बड़ा बेटा अपनी दादी के साथ कमरे से निकलने में सफल रहा दादी और पोते की चीख पुकार सुनकर साथ लगते मकानों में सो रहे अन्य लोग उठ खड़े हुए और आग को बुझाने के प्रयास करने लगे लेकिन तब तक काफि देर हो चुकी थी एक ही परि वार के चार सदस्य दम तोड़ चुके थे। उधर हादसे का समाचार सुनते ही उपायुक्त चंबा डी सी राणा ने भी घटना स्थल का दौरा किया।

परिजनों को फौरी राहत के तौर पर 50 हजार रुपए की राशि, रोजमर्रा की जरूरत का सामान और एक महीने का राशन भी प्रदान कर दिया गया है।
-प्रकाश चंद ठाकुर, तहसीलदार, चुराह

error: Content is protected !!