पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बुधवार को नंदीग्राम में चुनाव प्रचार के दौरान कथित रूप से अपनी कार के दरवाजे को धक्का दिए जाने की वजह से चोटिल हो गईं। घटना शाम को उस वक्त घटी, जब ममता रियापारा में एक मंदिर के बाहर खड़ी थीं। बुधवार की देर रात ममता बनर्जी की प्राथमिक मेडिकल टेस्ट की प्रांरंभिक रिपोर्ट आई, जिसमें उन्हें कई जगहों पर चोटें आईं हैं और एक पैर में प्लास्टर भी हुआ है। सरकारी एसएसकेएम अस्पताल के एक सीनियर डॉक्टर ने कहा कि ममता बनर्जी पर किए गए प्राथमिक चिकित्सा परीक्षण में उनके बाएं टखने और पैर की हड्डियों में गंभीर चोटों का पता चला है। साथ ही दाहिने कंधे, गर्दन और कलाई में भी चोटें आईं हैं। 

उन्होंने कहा कि अस्पताल में ममता बनर्जी ने नंदीग्राम में कथित हमले के बाद सीने में दर्द और सांस फूलने की शिकायत की है। डॉक्टरों ने कहा कि उन्हें अगले 48 घंटों के लिए निगरानी में रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस के प्रमुख को हल्का बुखार है और बांगुर इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूरोसाइंसेस में एमआरआई के तुरंत बाद अस्पताल के वीवीआईपी वुडबर्न ब्लॉक में उन्हें विशेष वार्ड में भेज दिया गया है।

ममता बनर्जी का इलाज कर रही टीम के एक डॉक्टर ने कहा, ‘हम अगले 48 घंटों तक उसे निगरानी में रखेंगे। इसके लिए और भी कई परीक्षण करने होंगे और उनकी स्थिति का मूल्यांकन करने के बाद हम उनके अगले उपचार के बारे में फैसला करेंगे। बुधवार की रात को पूर्वी मेदिनीपुर जिले के नंदीग्राम से वहां ले जाते समय डॉक्टरों ने मुख्यमंत्री का एक्स-रे किया।

राज्य सरकार ने बनर्जी के उपचार के लिए पांच वरिष्ठ डॉक्टरों की एक टीम बनायी है। बनर्जी पर शाम को चुनाव प्रचार के दौरान पूर्ब मेदिनीपुर के नंदीग्राम में कथित रूप से हमला हुआ। एसएसकेएम अस्पताल के वुडबर्न ब्लॉक के 12.5 विशेष केबिन में उनका इलाज चल रहा है। ममता बनर्जी का इलाज कर रही टीम में एक कार्डियोलॉजिस्ट, एक एंडोक्रिनोलॉजिस्ट, एक सामान्य सर्जरी डॉक्टर, एक ऑर्थोपेडिस्ट और एक दवा डॉक्टर है। बता दें कि चुनाव आयोग ने ममता पर हमला मामले में रिपोर्ट तलब की है।

तृणमूल सुप्रीमो ने कहा, ‘मैं अपनी कार के बाहर खड़ी थी, जिसका दरवाजा खुला हुआ था। मैं रियापारा के मंदिर में प्रार्थना करने जा रही थी। कुछ लोग मेरी कार के पास आए और दरवाजे को धक्का दिया। कार का दरवाजा मेरे पैर में लग गया।’ ममता ने बताया कि दरवाजा टकराने से उनके पैर में सूजन आ गई है। उन्हें बुखार जैसा भी महसूस हो रहा है। नंदीग्राम से तृणमूल प्रत्याशी ने घटना के पीछे राजनीतिक साजिश होने का आरोप लगाया। उन्होंने मौका-ए-वारदात पर किसी पुलिसकर्मी के मौजूद न होने की बात कही। 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री को जेड-प्लस श्रेणी की सुरक्षा प्राप्त है। घटना के बाद उनकी सुरक्षा को लेकर सवाल खड़े हो गए हैं। ममता बीते दो दिन से पूर्वी मेदिनीपुर जिले में प्रचार कर रही थीं। उन्हें बुधवार को नंदीग्राम में ही ठहरना था, लेकिन सूत्रों के मुताबिक चोटिल होने के बाद वह कोलकाता से जाई जा रही हैं।

By RIGHT NEWS INDIA

RIGHT NEWS INDIA We are the fastest growing News Network in all over Himachal Pradesh and some other states. You can mail us your News, Articles and Write-up at: News@RightNewsIndia.com

error: Content is protected !!