कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के बीच हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड की 10वीं और 12वीं की वार्षिक परीक्षाएं 13 अप्रैल से शुरू हो रही हैं। ऐसे में बोर्ड ने परीक्षार्थियों को राहत देते हुए कोविड-19 संक्रमित परीक्षार्थियों के बारे में लिए गए फैसले में बड़ा बदलाव किया है।

बोर्ड ने कहा है कि जो भी परीक्षार्थी कोरोना संक्रमित होगा, उसकी वार्षिक परीक्षाएं बाद में ली जाएंगी। हालांकि इससे पहले बोर्ड ने कोरोना संक्रमित परीक्षार्थियों की वार्षिक परीक्षा उसी दिन अलग कक्ष में करवाने की बात कही थी लेकिन अब सुरक्षा के मद्देनजर कोरोना संक्रमित परीक्षार्थियों की परीक्षा उनके स्वस्थ होने के ही ली जाएगी और इसकी डेट वार्षिक परीक्षाओं के बाद ही तय की जाएगी।

ऐसे परीक्षार्थियों के लिए स्कूल शिक्षा बोर्ड फिर से डेटशीट बनाएगा और दोबारा उनके प्रश्न पत्र तैयार किए जाएंगे। बोर्ड ने परीक्षाओं के सफलतापूर्वक संचालन में सहयोग के लिए डीसी, सीएमओ. सहित पुलिस विभाग को भी पत्र लिख दिया है। यदि परीक्षार्थी का तापमान अधिक पाया जाता है या फिर उसमें कोरोना के लक्षण दिखाई देते हैं तो उस परीक्षार्थी के कोरोना टैस्ट के लिए स्वास्थ्य विभाग से सहयोग लिया जाएगा।

परीक्षा के दौरान किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए पुलिस कर्मियों की भी सहायता ली जाएगी। कंटेनमेंट जोन से आने वाले परीक्षार्थी भी परीक्षा में भाग ले सकेंगे। बोर्ड अध्यक्ष डॉक्टर सुरेश कुमार सोनी ने खबर की पुष्टि की है।

error: Content is protected !!