श्रीनगर, राजौरी और कठुआ में ड्रोन के इस्तेमाल पर पाबंदी, लेनी होगी इजाजत

Read Time:3 Minute, 14 Second

श्रीनगर, राजौरी और कठुआ के बाद अब जम्मू कश्मीर के तीन अन्य जिलों में भी ड्रोन के इस्तेमाल पर फिलहाल पाबंदी लगा दी गई है। जम्मू कश्मीर के सांबा, रामबन और बारामूला जिले में मंगलवार से ड्रोन या मानव रहित उड़न वस्तुओं के भंडारण, बिक्री या रखने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। जम्मू में वायु सेना स्टेशन पर हाल में ड्रोन से हुए आतंकी हमले के बाद श्रीनगर, राजौरी और कठुआ में पहले से ही ऐसी वस्तुओं के इस्तेमाल पर पाबंदी लगा दी गई है। बारामूला में ड्रोन कैमरा या ऐसी चीजें रखने वाले लोगों को उन्हें स्थानीय थाने में जमा कराने को कहा गया है। रामबन के जिलाधिकारी मुसर्रत आलम ने कहा कि सामाजिक और सांस्कृतिक आयोजनों में छोटे ड्रोन कैमरे का प्रयोग होता है और राष्ट्र विरोधी तत्वों द्वारा इसके इस्तेमाल के खतरे से बचने के लिए यह आदेश जारी किया गया है। 

बारामुला जिलाधिकारी भूपिंदर कुमार द्वारा जारी आदेश के मुताबिक, निजता का उल्लंघन, अनाधिकार प्रवेश और बढ़ती परेशानी के अलावा सुरक्षा स्थिति को ध्यान में रखते हुए, ड्रोन और UAVs को बारामुला जिले के क्षेत्राधिकार में उड़ान भरने की अनुमित देना काफी खतरनाक होगा। यहां प्रशासन ने साफ किया है कि जिन लोगों के पास पहले स ड्रोन कैमरा या उसी तरह की UAVs हैं, उन्हें तत्काल रूप से नजदीकी पुलिस स्टेशन में उसे रसीद लेकर जमा करा दें। आदेश में यह भी कहा गया है कि सरकारी विभागों और एजेंसियों को कृषि, पर्यावरण संरक्षण और आपदा राहत विभागों में मैंपिंग, सर्वे, सर्विलांस जैसे कामों में ड्रोन का इस्तेमाल करने से पहले स्थानीय पुलिस स्टेशन को सूचना देनी होगी।

बता दें कि 26 जून की देर रात जम्मू एयरबेस पर दो ड्रोन के जरिए ब्लास्ट किया गया था, जिसमें वायुसेना के दो जवान घायल हुए थे और एयरफोर्स स्टेशन की एक इमारत की छत को नुकसान पहुंचा था। इस ब्लास्ट के बाद शुरुआती जांच-पड़ताल में यह बात सामने आई थी कि इसमें पाकिस्तान पोषित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैय्यबा का हाथ हो सकता है। इस ब्लास्ट के बाद भी जम्मू के कई इलाकों में ड्रोन की गतिविधि देखी गई थी।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!