Right News

We Know, You Deserve the Truth…

DRDO ने बनाई कोरोना एंटीबाॅडी टेस्टिंग किट डिप्कोवैन, 75 रुपए के खर्च पर 75 मिनट में मिलेगी जांच रिपोर्ट

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने एंटीबॉडी की जांच के लिए डिप्कोवैन (Dipcovan) किट बनाई है। DRDO के मुताबिक, यह किट शरीर में SARS-CoV-2 के वायरस और इससे लड़ने वाले प्रोटीन न्यूक्लियो कैप्सिड (S&N) दोनों की मौजूदगी का पता लगा सकती है। यह 97% की हाई सेंसिटिविटी और 99% स्पेसिफिसिटी के साथ मात्र 75 रुपए की कीमत पर 75 मिनट में आपको रिपोर्ट भी दे देगी।

1000 मरीजों पर की गई टेस्टिंग
दिल्ली के अस्पतालों में करीब 1000 मरीजों पर परीक्षण के बाद इसे बाजार में उतारने की अनुमति दी गई है। पिछले एक साल के दौरान इस किट के तीन बैच का अस्पतालों में अलग-अलग परीक्षण किया गया है। DRDO के लैब डिफेंस इंस्टीट्यूट ऑफ फिजियोलाॅजी एंड एलायड साइंसेस लेबोरेटरी ने दिल्ली की एक निजी कंपनी वैनगार्ड डायगनोस्टिक के सहयोग से इस किट को तैयार किया है। यानि यह पूर्ण रूप से स्वदेशी किट है।

जून के पहले हफ्ते से बाजार में मिलेगी किट
ICMR ने इसी अप्रैल में डिप्कोवैन किट को अनुमति दी और इसी महीने ड्रग्स कंट्रोलर जनरल आफ इंडिया (DCGI) ने इसके निर्माण और बाजार में बेचे जाने की मंजूरी दी है। वैनगार्ड लिमिटेड व्यावसायिक तौर पर जून के पहले हफ्ते में इस किट को बाजार में उतारेगा।

लाॅन्चिंग के समय करीब 100 किट उपलब्ध होंगी। इससे करीब 10 हजार लोगों की जांच होगी और इसके बाद हर महीने 500 किट का प्रोडक्शन होगा। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने डीआरडीओ की इस पहल की सराहना करते हुए कहा कि यह किट कोविड महामारी से लड़ाई में लोगों की मदद करेगी।

DRDO ने एंटी कोविड ड्रग 2DG भी लॉन्च की है
इससे पहले सोमवार को DRDO की एंटी कोरोना ड्रग 2DG की इमरजेंसी यूज के लिए रिलीज किया गया है। ये दवा एक पाउडर के रूप में है। इस दवा को सबसे पहले दिल्ली के DRDO कोविड अस्पताल में भर्ती मरीजों को दिया जाएगा।

एंटी कोविड दवा पर DRDO प्रमुख जी. सतीश रेड्डी ने बताया कि अभी सप्ताह में 10,000 के आस पास कुल उत्पादन होगा। आज AIIMS, AFMS और DRDO अस्पतालों में दे रहे हैं। बाकी राज्यों को अगले चरण में देंगे। अभी थोड़ी देरी है। जून के पहले हफ्ते से सभी जगहों पर 2DG दवा उपलब्ध होगी।

उन्होंने कहा कि यह दवा कोरोना वायरस से संक्रमित कोशिकाओं पर सीधा काम करेगी। शरीर का इम्यून सिस्टम काम करेगा और मरीज जल्दी ठीक होगा। इसे मरीज के वजन और डॉक्टर के प्रिसक्रिप्शन के आधार पर कम से कम 5-7 दिन सुबह-शाम 2 डोज लेनी है।

error: Content is protected !!