राजधानी रांची सहित कई जिलों कि पुलिस का सिरदर्द बन चुका कुख्यात गैंगस्टर सुजीत सिन्हा एक बार फिर चर्चा में है और यह चर्चा उसका साम्राज्य संभाल रही प्रेमिका प्रियंका कुमारी सिंह उर्फ खुशबू उर्फ सृष्टि की वजह से है। प्रियंका कुमारी कुख्यात गैंगस्टर सुजीत सिन्हा के गिरोह की सेकंड इन कमांड थी। उसके द्वारा रांची में बड़े कारोबारियों और बिल्डरों से रंगदारी की मांग की जा रही थी. यह सिलसिला काफी लंबे समय से चला आ रहा था। लेकिन इस गैंग का पर्दाफाश तब हुआ जब बड़े कारोबारी और राजनीति से जुड़े व्यक्ति रंगदारी मांगने और हत्या की धमकी के बाद सुजीत सिन्हा की प्रेमिका सहित पूरा गैंग पुलिस की रडार पर आ गया इसके बाद राज्य पुलिस ने एक-एक कर सभी गैंग मेंबर को अपनी गिरफ्त में ले लिया।

सुजीत सिन्हा की प्रेमिका प्रियंका रांची के कडरू स्थित एक गर्ल्स हॉस्टल में रहकर पूरा गैंग चला रही थी। वह गर्ल्स हॉस्टल में एक स्टूडेंट बनकर रह रही थी। उसने डाल्टेनगंज के एक कॉलेज से बीबीए की पढ़ाई भी की है। प्रियंका की दोस्ती महेश सुजीत सिन्हा से हुई थी। उसके बाद सुजीत सिन्हा के लिए वह काम करने लगी और उसके गैंग में शामिल भी हो गई। उसने अपने गैंग में दो सगे भाइयों अंकित और विकास को भी जोड़ रखा था। प्रियंका ने रांची में अपने अलग-अलग गुर्गों के माध्यम से जमीन कारोबारियों की लिस्ट तैयार की थी। उसी लिस्ट के आधार पर वो कारोबारियों और बिल्डर को कॉल किया करती थी।

कॉल कर सभी से रंगदारी में पैसे या फिर हर प्रोजेक्ट में एक फ्लैट की मांग करती थी कहा करती थी कि वह पूरे फ्लैट की कीमत दो वरना गोली मार दी जाएगी। कई बिल्डर सुजीत सिन्हा के नाम पर मांगे गए रंगदारी के डर से पैसे भी दे चुके थे। हालांकि एक बड़े कारोबारी से रंगदारी मांगने के बाद गैंग की गतिविधि पुलिस के सामने आ गई और प्रियंका सहित चार लोग पकड़े गए। उनके पास से मोबाइल गहने समेत अन्य सामान भी बरामद हुए हैं।

रांची के एसएसपी सुरेंद्र झा ने बताया कि सुजीत सिन्हा की प्रेमिका प्रियंका ने पलामू में कुख्यात डब्ल्यू सिंह गिरोह के लव सिंह की हत्या में हनी ट्रैप के रूप में शामिल थी. इस मामले में वह जेल भी जा चुकी है इस कांड में पकड़े गए रिंटू सिंह का भी आपराधिक इतिहास रहा है रंगदारी और हत्या के मामले में भी वह पूर्व में जेल जा चुका है। एसएसपी सुरेंद्र झा ने बताया कि कुछ समय से सुजीत सिन्हा गिरोह द्वारा रांची और अन्य जिले के बिल्डर ठेकेदार और जमीन कारोबारियों से रंगदारी मांगी जा रही थी पैसा नहीं देने पर उसे जान से मारने की धमकी गिरोह के अपराधियों के द्वारा दिया जा रहा था।https://googleads.g.doubleclick.net/pagead/ads?client=ca-pub-6603285639761535&output=html&h=90&twa=1&slotname=9688658775&adk=3841584859&adf=3372527850&pi=t.ma~as.9688658775&w=384&lmt=1618321194&psa=0&format=384×90&url=http%3A%2F%2Fwww.encounterindia.in%2Fdawns-girlfriend-chadhi-police-running-gang-from-girls-hostel%2F&flash=0&fwr=1&rh=90&rw=374&sfro=1&wgl=1&dt=1618321194594&bpp=6&bdt=918&idt=280&shv=r20210407&cbv=r20190131&ptt=9&saldr=aa&abxe=1&prev_fmts=384×90&correlator=3747545351356&frm=20&pv=1&ga_vid=2017549797.1618321195&ga_sid=1618321195&ga_hid=581602337&ga_fc=0&u_tz=330&u_his=1&u_java=0&u_h=854&u_w=384&u_ah=854&u_aw=384&u_cd=24&u_nplug=0&u_nmime=0&adx=0&ady=1734&biw=384&bih=719&scr_x=0&scr_y=0&eid=44736525%2C31060004%2C31060711%2C44740079%2C21066973&oid=3&pvsid=797466368794789&pem=954&eae=0&fc=640&brdim=0%2C0%2C0%2C0%2C384%2C0%2C384%2C719%2C384%2C719&vis=1&rsz=%7C%7CeEbr%7C&abl=CS&pfx=0&fu=0&bc=23&ifi=2&uci=a!2&btvi=1&fsb=1&xpc=ydH2ghvpR4&p=http%3A//www.encounterindia.in&dtd=306

पुलिस की डायरी के अनुसार राज्य में 36 अपराधिक गैंग चल रहे हैं लेकिन सबसे ज्यादा सक्रिय सुजीत सिन्हा गैंग ही है। करीब एक साल से इस गैंग ने पुलिस को परेशान कर रखा था इस गैंग से जुड़े अमन साहू, बसंत गंजू सहित कई अपराधियों को पुलिस ने अलग-अलग जिलों से पकड़ा था बावजूद इसके इस गैंग की गतिविधियों पर पूरी तरह से रोक पुलिस नहीं लगा पा रही थी।https://googleads.g.doubleclick.net/pagead/ads?client=ca-pub-6603285639761535&output=html&h=90&twa=1&slotname=9688658775&adk=3841584859&adf=2638874208&pi=t.ma~as.9688658775&w=384&lmt=1618321194&psa=0&format=384×90&url=http%3A%2F%2Fwww.encounterindia.in%2Fdawns-girlfriend-chadhi-police-running-gang-from-girls-hostel%2F&flash=0&fwr=1&rh=90&rw=374&sfro=1&wgl=1&dt=1618321194600&bpp=5&bdt=925&idt=313&shv=r20210407&cbv=r20190131&ptt=9&saldr=aa&abxe=1&prev_fmts=384×90%2C384x90&correlator=3747545351356&frm=20&pv=1&ga_vid=2017549797.1618321195&ga_sid=1618321195&ga_hid=581602337&ga_fc=0&u_tz=330&u_his=1&u_java=0&u_h=854&u_w=384&u_ah=854&u_aw=384&u_cd=24&u_nplug=0&u_nmime=0&adx=0&ady=2014&biw=384&bih=719&scr_x=0&scr_y=0&eid=44736525%2C31060004%2C31060711%2C44740079%2C21066973&oid=3&pvsid=797466368794789&pem=954&eae=0&fc=640&brdim=0%2C0%2C0%2C0%2C384%2C0%2C384%2C719%2C384%2C719&vis=1&rsz=%7C%7CeEbr%7C&abl=CS&pfx=0&fu=0&bc=23&ifi=3&uci=a!3&btvi=2&fsb=1&xpc=v6ngbs1kQg&p=http%3A//www.encounterindia.in&dtd=331

सुजीत सिन्हा के खिलाफ आर्म्स एक्ट रंगदारी और हत्या सहित कुल 51 मामले दर्ज हैं. उसके गिरोह में कई अपराधी शामिल हैं. गिरोह के कुछ अपराधी वर्तमान में फरार हैं तो कुछ सक्रिय भेज के अलावा कुछ अपराधी जमानत पर भी जेल से बाहर हैं, जिसके जरिए सुजीत जेल के अंदर से ही गिरोह चला रहा है. हजारीबाग कोर्ट में मारे गए गैंगस्टर सुशील श्रीवास्तव के खास शूटरों में सुजीत सिन्हा की गिनती होती थी। सुजीत सिन्हा ने सुशील की मौत का बदला लेने के लिए भोला पांडे गिरोह के सरगना विकास तिवारी की हत्या की साजिश रची थी. सुजीत सिन्हा ने ही अपराधी लवकुश शर्मा के जरिए इंजीनियर समरेंद्र प्रताप सिंह को मारने की साजिश रची थी।

रांची पुलिस ने सुजीत सिन्हा ज्ञान के चार लोगों को गिरफ्तार किया जिसमें प्रियंका सिंह, रिंकू सिंह उर्फ जयप्रकाश सिंह, अंकित प्रताप सिंह उर्फ गोलू और विकास सिंह उर्फ छोटू को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है।

सुजीत सिन्हा गैंग के अपराधियों के पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद रांची के एसएसपी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि संबंधित जमीन कारोबारियों की हत्या की योजना भी बना चुका था. एसएसपी सुरेंद्र झा ने बताया कि सुजीत सिन्हा का गिरोह रांची और आसपास के क्षेत्रों में प्रियंका ही ऑपरेट कर रही थी किस से रंगदारी मांगनी है और किसे धमकी देनी है. गैंग में किसको कहां रखना और किसको हटाना है, यह सब कुछ उसी के जिम्मे था. वो ही सुजीत सिन्हा से लगातार टच में थी. सुरेंद्र झा ने बताया कि घाघीडीह जेल के कुछ कर्मी प्रियंका को जेल के अंदर से सुजीत सिन्हा से जुड़ी जानकारियां उपलब्ध कराते थे इसका पता पुलिस लगा रही है।

error: Content is protected !!