111 देशों में पहुंच चुका है डेल्टा वेरिएंट, डब्ल्यूएचओ ने माना आ चुकी है तीसरी लहर

Read Time:2 Minute, 52 Second

भारत में भले ही कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंकाएं जाहिर की जा रही हैं, लेकिन विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि इसने दस्तक दे दी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के मुखिया टेड्रोस अधानोम गेब्रेयेसस ने बुधवार को कहा कि कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर अपने शुरुआती दौर में है। दुनिया भर में कोरोना केसों और मौतों के आंकड़े एक बार फिर से बढ़ने को लेकर चेतावनी जारी करते हुए उन्होंने यह बात कही। टेड्रोस ने कहा, ‘दुर्भाग्य से हम कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर के शुरुआती दौर में हैं।’ दुनिया में कोरोना संकट से निपटने के लिए बनी इमरजेंसी कमिटी को संबोधित करते हुए WHO के मुखिया ने यह बात कही।

टेड्रोस ने कहा, ‘डेल्टा वैरिएंट अब दुनिया के 111 देशों में पहुंच चुका है। हमें आशंका है कि यह जल्दी ही दुनिया में कोरोना संक्रमण का सबसे घातक स्ट्रेन साबित होगा।’ विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुखिया ने कहा कि कोरोना वायरस लगातार अपने रूप बदल रहा है और खतरानाक वैरिएंट्स के तौर पर सामने आ रहा है। टेड्रोस ने कहा कि उत्तरी अमेरिका और यूरोप में वैक्सीनेशन की रफ्तार तेज होने के चलते कोरोना केसों और मौतों में कुछ वक्त के लिए कमी देखने को मिली थी। लेकिन अब फिर से हालात बदल गए हैं और ट्रेंड उल्टा हो गया है।

उन्होंने कहा कि एक बार फिर से दुनिया भर में कोरोना केसों में इजाफा होता दिख रहा है। टेड्रोस ने कहा कि बीता सप्ताह लगातार ऐसा चौथा वीक था, जब कोरोना केसों में कमी देखने को मिली थी। लेकिन अब इजाफा शुरू हो गया है। इसके अलावा मौतों का आंकड़ा भी लगातार 10 सप्ताह की गिरावट के बाद बढ़ता दिख रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के चीफ ने भी बढ़ते केसों की वजह सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनने के नियमों का पालन न होना बताया है। बता दें कि गुरुवार को भारत में भी नए केसों का आंकड़ा 40,000 के पार पहुंच गया है।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!