राशन कार्ड बनाने के नाम पर दलित महिला से बलात्कार, मारपीट और कहे जातिसूचक शब्द

Read Time:4 Minute, 16 Second

एक महिला ने 2 व्यक्तियों पर मारपीट करने, जातिसूचक शब्द कहने तथा दुराचार करने का मामला दर्ज करवाया है। पीड़िता ने थाने में शिकायत पत्र सौंपा, जिसमें उसने बताया कि वह एक विशेष जाति से है और अपनी गुजर-बसर के लिए पढियारखर में दुकान में नौकरी करती है। उसका कोई राशन कार्ड नहीं बना था, इसे लेकर उसने अपने जानने वाले व्यक्ति से बात की। जिस समय उसने बात की, उस समय राकेश कुमार उर्फ फांदी पुत्र पंचकू निवासी नौहरा उनके साथ था। उनकी बात को सुनकर राकेश कुमार ने उसे कहा कि मेरी बहुत जान-पहचान है और मैं राशन कार्ड बनवा दूंगा। उसके बाद राकेश कुमार ने उसे फोन करना शुरू कर दिया और कहा कि राशन कार्ड बनवाने के लिए आपको साथ चलना पड़ेगा।

पीड़िता के अनुसार राकेश कुमार ने मुझे फोन किया और पालमपुर चलने को कहा तथा 11 बजे चौबीन चौक से मुझे अपनी कार में बिठा कर पालमपुर की तरफ  चल पड़ा। उसके बाद उसने गाड़ी को एक होटल में रोक दिया और अंदर चलने को कहा। जब मैंने पूछा तो कहने लगा कि चाय पीकर चलते हैं और मुझे कमरे में ले गया और दरवाजा बंद कर पकड़ लिया। पीड़िता ने बताया कि मेरे लाख मना करने पर भी वह नहीं माना और जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाए। उसके बाद वह मुझे पालमपुर ले आया। जब मैंने राशन कार्ड के बारे में पूछा तो कहने लगा कि बन जाएगा और मुझे पालमपुर छोड़ कर चला गया। इसके बाद भी आरोपी मुझे फोन करता रहता था।

13 जुलाई को फिर राकेश कुमार का फोन आया और पालमपुर चलने को कहा तथा कहा कि आज राशन कार्ड बन जाएगा। फिर वह उसे चौबीन चौक पर मिला और पालमपुर की तरफ  कार में ले गया। पिछली बार की तरह इस बार भी वह फिर उसे उसी होटल में ले गया और वहां फिर से रेप किया और उसे अपनी कार में वापस बैजनाथ ले आया। जब उसने पूछा कि राशन कार्ड का क्या हुआ तो कहने लगा कि वह तो बन ही जाएगा। पीड़िता के अनुसार बीते वीरवार को वह अपनी माता के साथ पालमपुर अस्पताल गई थी तथा वापसी में वह पढियारखर में खड़ी थी और फोन पर बात कर रही थी। करीब पौने 5 बजे आरोपी अपनी कार में एक और व्यक्ति रमन के साथ आया और उसे अपने साथ बैजनाथ चलने के लिए कहा। जिस पर उसने मना किया तो रमन ने उसे जबरदस्ती कार में धकेल दिया और कार चला दी।

पीड़िता के अनुसार राकेश कुमार उसे चौबीन विश्राम गृह में चलने को कहने लगा तो उसने मना कर दिया, जिस पर राकेश कुमार ने उसे चांटे मारे और कहने लगा कि तुम विशेष जाति की हो और मेरे साथ चलने के लिए मना कर रही हो। इस दौरान रमन ने भी धमकियां दीं और उसके साथ छेडख़ानी की। जब वह रोने व चिल्लाने लगी तो राकेश कुमार ने उसे दोबारा मारा और चलती गाड़ी से धक्का दे दिया। उसने बताया कि उसे और उसके परिवार को राकेश और रमन से जान-माल का खतरा है। डीएसपी बैजनाथ बीडी भाटिया ने कहा कि पीड़िता का मेडिकल करवा लिया गया है तथा दोनों आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और जल्द ही उन्हें हिरासत में ले लिया जाएगा।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!