महिला ने खड्ड में बह रहे पांच स्कूली छात्रों को जान पर खेल कर बचाया, तहसीलदार ने दी 4-4 हजार रुपए फौरी राहत

0
64

हिमाचल के मंडी (Mandi) जिला में पांच स्कूली छात्रों (School Student) के खड्ड की चपेट में आने से बहने का मामला सामने आया है। हालांकि दो महिलाओं ने अपनी जान पर खेल कर इन स्कूली बच्चों को बचा लिया। इस कशमकश में छात्र और महिला घायल हो गई। जिन्हें उपचार के लिए सिविल अस्पताल करसोग में भर्ती करवाया गया है। बताया जा रहा है कि शनिवार को करसोग (Karsog) से करीब 4 किलोमीटर की दूरी पर शंकरदेहरा के दरली नामक स्थान के पास स्कूल बच्च्चे स्कूल से छुट्टी होने पर घर लौट रहे थे। इसी दौरान खड्ड (Ravine) में आए पानी के तेज बहाव और बारिश से बचने के लिए यह छात्र खड्ड किनारे बने एक टीन के शेड का सहारा लिया। इसी बीच इमला खड्ड का बहाव बढ़ गया और उसने टीन के शेड सहित इन स्कूली बच्चों को अपनी चपेट में ले लिया।

इसी बीच चंपा देवी पत्नी इंद्र सिंह अपने 2 बच्चों को लेने आ रही थी। जैसे ही चंपा देवी ने खड्ड के पानी का तेज बहाव शेड की तरफ आते हुए देखा उसने जान की परवाह किए बगैर छात्रों को पानी के तेज बहाव के साथ बहने से बचा लिया। इस दौरान सभी को चोटें आई। जिन्हें उपचार के लिए करसोग अस्पताल लाया गया है। वहीं खड्ड में फंसे बच्चों में पूनम उम्र 15 साल पुत्री लाल सिंह गांव सेरी तहसील थुनाग, मानवी ठाकुर उम्र 11 साल पुत्री लाल सिंह गांव सेरी तहसील थुनाग, मधु उम्र 10 साल पुत्री इंद्र सिंह गांव सेरी तहसील थुनाग, रितेश उम्र 7 साल पुत्र इंद्र सिंह गांव सेरी तहसील थुनाग और रवि कांत उम्र 19 साल पुत्र टेक चंद गांव नागी नाला तहसील थुनाग शामिल हैं। सूचना मिलते ही तहसीलदार राजेंद्र ठाकुर ने सिविल अस्पताल पहुंच कर घायलों को 4-4 हजार की फौरी राहत जारी कर दी है।

Leave a Reply