बेकाबू प्राइवेट बस ने कलस्टर बस को मारी टक्कर, सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के 30 मजदूर घायल

0
27

मध्य दिल्ली के पटेल नगर इलाके में मंगलवार सुबह बेकाबू प्राइवेट बस ने लाल बत्ती पर खड़ी कलस्टर बस को टक्कर मार दी। हादसे के बाद मौके पर अफरा-तफरी मच गई। प्राइवेट बस के चालक समेत उसमें बैठे ज्यादा लोग जख्मी हो गए।

राहगीरों ने तुरंत घायलों को बसों से निकाला। बाद में एंबुलेंस और पीसीआर की मदद से नजदीकी सरदार वल्लभ भाई पटेल और आरएमएल अस्पताल भेजा गया। हादसे में कुल 30 लोग जख्मी हुए। अस्पताल में निजी बस के चालक जगमोहन (44) समेत चार की हालत गंभीर बनी हुई है। छह लोगों को छोड़कर सभी को प्राथमिक उपचार के बाद अस्पताल से छट्टी दे दी गई।

माना जा रहा है कि प्राइवेट के ब्रेक फेल होने की वजह से हादसा हुआ। उसने ही कलस्टर बस को पीछे से टक्कर मारी। रंजीत नगर थाना पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

मध्य जिला के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि हादसा मंगलवार सुबह करीब 8.30 बजे पटेल नगर लाल बत्ती पर हुआ। सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर काम कर रहे मजदूरों को लेकर एक सफेद रंग की प्राइवेट बस कीर्ति नगर से इंडिया गेट की ओर जा रही थी। बस में 35 से अधिक मजदूर थे। वहीं पटेल नगर लाल बत्ती पर नारंगी रंग की कलस्टर बस खड़ी थी। जिसमें 25 से 30 सवारियां मौजूद थीं। अचानक पीछे से तेज रफ्तार आई बस ने कलस्टर बस को जोरदार टक्कर मार दी।

टक्कर लगते ही एक तेज आवाज हुई। वहां आसपास मौजूद लोग एकदम डर गए। इस बीच मौके पर चीख पुकार मच गई। स्थानीय लोगों ने मामले की सूचना पुलिस व एंबुलेंस को दी। बाद में राहगीरों ने घायलों को खुद ही दोनों बसों से निकालना शुरू कर दिया। कलस्टर बस का पिछला और अगला शीशा टूट गया था। वहीं प्राइवेट बस आगे से बुरी तरह क्षतिग्रस्त थी। निजी बस का चालक बुरी तरह घायल होने के बाद बस में फंसा हुआ था। इस बीच मौके पर पहुंची पुलिस व एंबुलेंस ने घायलों को अस्पताल ले जाना शुरू किया।

कलस्टर बस के चालक को किसी तरह बस से निकाला गया। बाद में उसे आरएमएल अस्पताल भेजा गया। कलस्टर बस में पीछे बैठे तीन यात्री और निजी बस में चालक समेत 27 लोगों को अस्पताल ले जाया गया। वहां छह लोगों को छोड़कर बाकी सभी को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। ज्यादातर लोगों को झटका लगने से सिर व टांगों में चोट लगी है। निजी बस में मौजूद लोगों ने बताया कि बस के ब्रेक फेल होने की वजह से हादसा हुआ। रंजीत नगर थाना पुलिस मामला दर्ज कर छानबीन में जुटी है।

मध्य जिला के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि शुरुआती जांच में पता चला है कि निजी बस के ब्रेक फेल होने की वजह से हादसा हुआ। कलस्टर बस और निजी बस दोनों को कब्जे में ले लिया गया है। निजी बस का मैकेनिकल इंस्पेक्शन करवाकर इस बात का पता लगाने का प्रयास किया जाएगा कि क्या वाकई बस के ब्रेक फेल होने की वजह से हादसा हुआ या इसके लिए चालक जिम्मेदार है।

हादसे के बाद मौके पर अफरा-तफरी मच गई। स्थानीय लोग व राहगीर मदद को भागे। इन लोगों ने दोनों बसों में मौजूद घायलों को उतराना शुरू कर दिया। एक राहगीर शिवा ने बताया कि हादसे के बाद वहां मौजूद लोग लगातार पुलिस को कॉल करते रहे, लेकिन पुलिस नहीं पहुंची। लोग दर्द से करहाते रहे। एक अन्य प्रत्यक्षदर्शी शैलेंद्र पांडेय ने बताया कि सुबह करीब 8.30 बजे हादसा हुआ, लेकिन पुलिस करीब आधा घंटा लेट आई। इसके बाद ही घायलों को अस्पताल ले जाया गया। पुलिस अधिकारियों ने लेट आने की बात से साफ इंकार किया है।

सुबह 8.58 बजे पुलिस को सूचना मिली थी, तुरंत ही मौके पर पुलिस की टीम के अलावा एंबुलेंस पहुंच गई। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां निजी बस चालक की हालत नाजुक बनी हुई है। हादसे की वजहों की जांच की जा रही है।
– श्वेता चौहान, पुलिस उपायुक्त, मध्य जिला

Leave a Reply