भारत नेपाल सीमा पर शहीद हुए देवराज के घर पसरा मातम, अंतिम संस्कार में सैकड़ों गाड़ियों के साथ निकली गई शोभा यात्रा

0
55

चंबा. हिमाचल प्रदेश के जिला चंबा के रहने वाले भारत-नेपाल सीमा पर तैनात 18वीं वाहनी शसस्त्र सीमा बल के हेड कांस्टेबल जवान की हत्या कर दी गई है. हेड कांस्टेबल देवराज की बिहार के मधुबनी जिला स्थित खुटौना में शराब माफिया द्वारा गाड़ी से कुचल कर हत्या की गई है.

इसके बाद से देवराज के गांव में मातम का माहौल पसर गया है. एसएसबी जवान देवराज थाना किहार स्थित थसुंडा गांव के रहने वाले थे. वह खुटौना बीओपी में तैनात थे. देवराज की मृत्यु के बाद क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई है. परिवार पर दुःखों का पहाड़ टूट पड़ा है. वहीं, एसएसबी के जवानों द्वारा देवराज के पार्थिव शरीर को आज उनके गांव लाया गया. देवराज का जैसे ही पार्थिव शरीर उनके गांव पहुंचा तो ग्रामीणों ने देवराज अमर रहे के नारे लगाए. सलूणी से किहार तक सैकड़ों गाड़ियों के साथ शोभा यात्रा निकाली गई.

देवराज का पार्थिव शरीर जब घर पहुंचा तो परिवार का रो-रोकर बुरा हाल हो गया. उसके बाद अंतिम संस्कार किहार खड्ढ में किया गया और एसएसबी के जवानों द्वारो सलामी दी गई. अन्तिम संस्कार में सैकड़ों की संख्या में लोग पहुंचे हुए थे. जानकारी के अनुसार देवराज के परिवार में पत्नी शांति देवी, तीन बेटियां, एक बेटा व माता- पिता हैं. बड़ी बेटी दिव्यांशी किहार स्कूल में छठी कक्षा में पढ़ती है, अक्षिता चौथी कक्षा में तथा अमूल्या केजी में पढ़ती है. जबकि सबसे छोटा बेटा शौर्य है, जोकि अभी मात्र 17 माह का है.

शराब माफिया ने एक हंसते-खेलते परिवार से उसकी खुशियां छीन लीं

पिता जगदीश शर्मा लोक निर्माण विभाग से सेवानिवृत्त हैं. माता गृहिणी हैं. देवराज करीब डेढ़ माह पहले ही छुट्टी खत्म कर ड्यूटी पर लौटे थे. देवराज का छोटा भाई करीब 20 साल पहले लापता हो गया था जिसका आज दिन तक कोई सुराग नहीं लगा है. अब देवराज भी दुनिया को छोड़कर चले गए हैं. इससे परिवार पर दुःखों का पहाड़ टूट पड़ा है. अब परिवार की पूरी जिम्मेवरी देवराज के पिता जगदीश शर्मा के कंधों पर आ गई है. उधर मासूम बच्चों को कुछ भी समझ नहीं आ रहा है कि उनके पिता के साथ आखिर हुआ क्या. शराब माफिया ने एक हंसते-खेलते परिवार से उसकी खुशियां छीन लीं.

Leave a Reply