Malegaon Blast: बीजेपी सांसद प्रज्ञा ठाकुर की बाइक और विस्फोटकों के बीच पुख्ता हुआ कनेक्शन, जानिए फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने क्या बताया

0
80

Malegaon Blast Case: मालेगांव ब्लास्ट मामले में आरोपी और भोपाल से भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर की मुश्किलें बढ़ती दिखाई दे रही हैं। इस मामले में एक गवाह ने एनआईए की विशेष अदालत को बताया है कि विस्फोटक के अंश एलएमएल वेस्पा समेत कई चीजों पर मिले थे। वेस्पा को ब्लास्ट वाली जगह से बरामद किया गया था और यह कथित तौर पर भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर के नाम पर रजिस्टर्ड थी। यह गवाह एक फॉरेंसिक एक्सपर्ट है।

29 सितंबर, 2008 को हुए मालेगांव ब्लास्ट में 6 लोगों की मौत हुई थी और 100 लोग घायल हो गए थे। 2008 में असिस्टेंट केमिकल एनलाइजर के तौर पर काम कर चुके फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने बताया कि अमोनियम नाइट्रेट के अंश ब्लास्ट वाली जगह से बरामद स्कूटर पर मिले थे। गवाह ने कोर्ट को बताया कि अमोनियम नाइट्रेट का इस्तेमाल विस्फोटक के तौर पर किया जाता है।

फॉरेंसिक एक्सपर्ट ने कोर्ट को बताया कि उसने एक एलएमएल वेस्पा स्कूटर को बुरी तरह क्षतिग्रस्त हालत में देखा था जब वह 2008 में ब्लास्ट वाली जगह पर गए थे। स्कूटर के पार्ट्स घटनास्थल पर इधर-उधर बिखरे पड़े थे। इसके अलावा, होंडा यूनिकॉर्न और एक साइकिल भी क्षतिग्रस्त अवस्था में मिली थीं।

कोर्ट में सबूत के तौर पर लाई गईं पांच साइकिल और दो मोटरसाइकल

एटीएस के ऑफिस से पांच साइकिल और दो मोटरसाइकल को सबूत के तौर पर पेश करने के लिए अदालत लाया गया था। स्पेशल जज, वकील, अदालत के कर्मचारी, गवाह और आरोपी उस स्थान पर आए थे जहां वाहन पार्क किए हुए थे। सभी ने वाहनों का निरीक्षण किया लेकिन इस दौरान फोटोग्राफी की इजाजत नहीं थी।

मालेगांव ब्लास्ट में 6 लोगों की हुई थी मौत

अभियोजन पक्ष का दावा है कि 29 सितंबर, 2008 को मालेगांव के भीकू चौक पर स्कूटर पर बम रखा गया था, जिसमें छह लोगों की मौत हो गई थी और सौ से अधिक लोग घायल हो गए थे। एनआईए को सौंपे जाने से पहले इस केस की शुरूआती जांच महाराष्ट्र एटीएस ने की थी।

Leave a Reply