दूल्हा और दुल्हन को जान हथेली पर रख कर पार करना पड़ा नाला, क्योंकि आजादी के 75 साल बीत जाने पर भी नही बना पूल

0
34

विवाह बंधन में बंधने के बाद घर लौट रहे दूल्हे और दुल्हन को जान जोखिम में डालकर उफनता नाला पार करना पड़ा। हिमाचल प्रदेश के चंबा जिले के बड़ग्रांम गांव के नाले पर पुल नहीं है।

बरसात के मौसम में नाले का जलस्तर बढ़ जाता है। चंबा जिले के भरमौर क्षेत्र के बुलन पंचायत डुग्घ गांव में कुठार गांव से बरात आई थी। रात भर शादी की रस्में निभाने के बाद रविवार को नई नवेली दुल्हन की विदाई हुई। वापसी पर बरातियों समेत नवदंपती को बड़ग्राम गांव में उफनते नाले को जान जोखिम में डालकर पार करना पड़ा। स्थानीय ग्रामीणों का कहना है कि कई बार सरकार और प्रशासन से नाले पर जल्द पुल बनाने की गुहार लगाई गई है।

नाले पर पुल बनाने का काम कछुआ चाल से चल रहा है। इससे लोगों में भारी नाराजगी है। बड़ग्रांम पंचायत के उपप्रधान सुनील कुमार और ग्रामीणों में पिंकू राम, मौजू राम, अभिषेक, विशाल और बिट्टू राम ने बताया कि कई बार स्थानीय प्रशासन को भी अवगत करवाया गया, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। उधर, लोनिवि के अधिशासी अभियंता संजीव महाजन ने बताया कि पुल का निर्माण कार्य तीव्र गति से चलाने के लिए ठेकेदार को आदेश दिए जाएंगे।

Leave a Reply