सोनाली फोगाट को ड्रिंक्स में जबरन दिया था ड्रग्स, बाथरूम में रखा था बंद, जाने गोवा पुलिस द्वारा किए खुलासे

0
49

सोनाली फोगाट की मौत के मामले में आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में कई बड़े खुलासे किए हैं. मामले में गोवा पुलिस ने बताया कि सोनाली को ड्रग्स दिया गया था. पुलिस को पूछताछ में जानकारी के मुताबिक सोनाली फोगाट को जबरदस्ती ड्रग्स दिया गया था. सोनाली फोगाट की मौत के बाद उनके भाई के बयान के आधार पर मर्डर का मुकदमा दर्ज किया गया. उसके बाद मौके का मुआयना और आरोपियों से पूछताछ की गई.

सोनाली फोगाट की मौत के बाद उनके भाई के बयान के आधार पर मर्डर का मुकदमा दर्ज किया गया. उसके बाद मौके का मुआयना और आरोपियों से पूछताछ की गई. उपलब्ध साक्ष्यों के आधार पर, सीसीटीवी फुटेज के आधार पर देखा गया कि सुधीर सांगवान और उसका साथी, मृतक के साथ पार्टी कर रहे हैं. इसी वीडियो से पता चलता है कि सोनाली को जबरन कुछ चीज दी गई. सांगवान से जब पूछताछ हुई तो उसने कबूल किया कि उसने जबरन सोनाली को ड्रिंक्स में कोई ड्रग या कैमिकल मिलाकर पिलाया.

दो घंटे तक बाथरूम में रखा

इसके बाद विक्टिम अपने कंट्रोल में नहीं रही. उसके बाद उसे इन लोगों ने संभाला. करीबी साढे़ चार बजे जब वो अपने आपको संभाल नहीं पा रही थी तब उसे बाथरूम की तरफ लेकर जाता है. वो लोग दो घंटे तक बाथरूम में रहते हैं. इसका एक्सप्लिनेशन आरोपियों ने नहीं दिया है. शुरुआती जांच में दोनों आरोपी गुनहगार दिख रहे हैं. आगे उनकी पड़ताल और की जाएगी. वहीं सोनाली फोगाट के शव पर लगी चोट को लेकर पुलिस का कहना है कि ये इतनी गंभीर चोटें नहीं हैं कि मौत की वजह बने. आरोपियों ने बताया है कि शव को उठाते समय ये चोट लगी हैं.

आरोपितों ने कबुली ड्रग देने की बात

गोवा के आईजीपी ने बताया कि हम उन जगहों पर गए जहां पीड़ित और आरोपी गए हैं. हमने आरोपी का बयान दर्ज किया. हमें करी क्लब से सीसीटीवी फुटेज मिले हैं. आरोपी सुधीर और सुखविंदर पार्टी कर रहे थे. वीडियो से हमने देखा कि एक आरोपी पीड़ितों को जबरदस्ती कुछ ड्रिंक दे रहा था. आरोपितों ने माना है कि उन्होंने पीड़िता को पीने के लिए कुछ दिया था.

सिंथेटिक ड्रग का किया गया इस्तेमाल

गोवा पुलिस के मुताबिक आरोपियों ने बताया कि उन्होंने सोनाली के ड्रिंक में सिंथेटिक ड्रग का इस्तेमाल किया है. हालांकि उन्होंने उस ड्रग का नाम नहीं बताया है. आईजीपी ने बताया कि अभी क्या पिलाया और उसे कहां फेंका इसके बारे में आगे पूछताछ होगी. फॉरेंसिक साइंस लेब के एक्सपर्ट को बुला लिया गया है. आरोपियों से जुड़े साक्ष्य उन्हें दे दिया गए हैं. अब से लेकर के 24 घंटों के अंदर पुलिस आरोपियों को कोर्ट के समक्ष पेश करेगी. पूछताछ में यह भी पता चला है कि मामले में आरोपी के कुछ आर्थिक हित हैं. आईजीपी ने कहा कि ऐसा लगता है कि मौत का मुख्य कारण दवा थी. एक समूह था जिसके मुंबई से आने की उम्मीद थी, वे सोनाली के साथ कुछ वीडियो रिकॉर्ड करना चाहते थे. मामले में टैक्सी चालक का बयान भी दर्ज किया जाएगा.

Leave a Reply