कारोबारी को उधार के 2.67 लाख मांगना पड़ा भारी, एसडीएम ने घर पर चलवा दिया बुलडोजर; निलंबित

0
26

Moradabad SDM Suspend: उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में एक एसडीएम को शासन ने सस्पेंड कर दिया है। उनके ऊपर आरोप है कि उन्होंने एक फर्नीचर कारोबारी ने एसडीएस से फर्नीचर के 2.67 लाख रुपये मांगे थे, जिसके बाद अधिकारी ने द्वेष भावना से एसडीएम के कारोबारी के घर पर बुल्डोजर चलवा दिया। कमिश्नर के आदेश पर एसडीएम के खिलाफ कार्रवाई की गई है।

कारोबारी से एसडीएम ने खरीदा था फर्नीचर

जानकारी के मुताबिक कुछ समय पहले घनश्याम वर्मा बिलारी के एसडीएम थे। तब उन्होंने वहां के एक फर्नीचर कारोबारी जाहिद अहमद से फर्नीचर खरीदा था। इसके बाद कारोबारी ने फर्नीचर के 2.67 लाख रुपये का एसडीएम से तकादा कर दिया। बस यही बात एसडीएम घनश्याम वर्मा को रास नहीं आई। आरोप है कि इसके बाद उन्होंने कारोबारी को नोटिस थमा दिया और फिर मकान पर बुल्डोजर चलवा दिया।

शिकायत के बाद एडीएम को सौंपी गई थी जांच

मामले में शिकायत होने पर आयुक्त आन्जनेय कुमार सिंह ने एसडीएम घनश्याम वर्मा के खिलाफ जांच के आदेश दिए। एडीएम (प्रशासन) सुरेंद्र सिंह ने मामले की जांच शुरू की। जांच के दौरान सामने आया कि जिस फर्नीचर कारोबारी के घर पर एसडीएम ने बुल्डोजर चलवाया है वो बिलारी नगर पालिका क्षेत्र के अंतर्गत आता है। इसलिए उन्हें कार्रवाई का अधिकारी नहीं है। आरोप है कि एसडीएम घनश्याम वर्मा ने अपनी शक्तियों का गलत इस्तेमाल किया।

शासन को भेजी रिपोर्ट के बाद हुई कार्रवाई

मामले की जांच में जुटे एडीएम (प्रशासन) सुरेंद्र सिंह ने दोनों पक्षों के बयान दर्ज किए। इसके अलावा मौके पर जाकर भी जांच की। एडीएम की प्रारंभिक जांच में एसडीएम घनश्याम वर्मा को दोषी पाया गया। इसके बाद जिलाधिकारी ने उन्हें मुख्यालय से संबंद्ध कर दिया। जांच रिपोर्ट शासन को भेजी गई, जिसके बाद शासन ने मामले का संज्ञान लेते हुए मंगलवार को एसडीएम घनश्याम वर्मा को संस्पेंड कर दिया गया है।

Leave a Reply