अदानी को टक्कर देने ग्रीन एनर्जी में इन्वेस्ट करेगी रिलायंस इंडस्ट्रीज, कंपनी इन्वेस्ट करेगी 75000 करोड़

0
54

रिलायंस इंडस्‍ट्रीज के 45वीं एनुअल जनरल मीटिंग में मुकेश अंबानी ने कई बड़े ऐलान किए तो वहीं उतराधिकार को लेकर अपनी प्‍लानिंग के बारे में भी संकेत दिए। इस मीटिंग के दौरान मुकेश अंबानी ने कहा कि 2023 तक पूरे देश में 5G सर्विस पेश हो चुकी होगी। इस बीच, रिलायंस इंडस्‍ट्रीज के मालिक मुकेश अंबानी ने ग्रीन एनर्जी को लेकर भी एक बड़ी घोषणा की है।

रिलायंस इंडस्‍ट्रीज 75000 करोड़ रुपए का निवेश ग्रीन एनर्जी सेगमेंट में करेगा। रिलायंस इंडस्ट्रीज ने कहा कि उसे उम्मीद है कि ग्रीन पावर सेगमेंट कंपनी के लिए ग्रोथ इंजन के रूप में उभरेगा और नई ऊर्जा निवेश को दोगुना करेगा।

गौरतलब है कि इस सेगमेंट में गौतम अडानी की अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड कंपनी टॉप कंपनियों में से एक है, जिसका 37.01 ट्रिलीयन है। ऐसे में रिलायंस इंडस्‍ट्रीज का ग्रीन एनर्जी में 75 हजार करोड़ रुपए का निवेश अडानी ग्रुप को कड़ी टक्‍कर दे सकता है।

अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड का वर्तमान परियोजना पोर्टफोलियो 20,434 मेगावाट है। कंपनी ग्रिड से जुड़े सौर और पवन कृषि परियोजनाओं का विकास, निर्माण, स्वामित्व, संचालन और रखरखाव करती है। कंपनी राज्‍य और केंद्र सरकार के ग्रीन एनर्जी से जुड़े जरूरतों को भी पूरा करती है। कंपनी का भारत में 12 राज्‍यों में विस्‍तार है। 54 परिचालन परियोजनाओं और निर्माणाधीन 12 परियोजनाओं के पोर्टफोलियो के साथ, एजीईएल भारत को अपनी अक्षय ऊर्जा यात्रा पर चला रहा है।

29 अगस्त को समूह की 45वीं एनुअल जनरल मीटिंग (AGM) में मुकेश अंबानी ने कहा कि “रिलायंस ने जामनगर में पूरी तरह से एकीकृत नई ऊर्जा निर्माण पारिस्थितिकी तंत्र में 75,000 करोड़ रुपए के निवेश में तेजी लाने की योजना बनाई है क्योंकि इसका लक्ष्य 2025 तक चौबीसों घंटे (RTC) बिजली और आंतरायिक ऊर्जा की कैप्टिव जरूरतों के लिए 2025 तक सौर ऊर्जा और ग्रीन हाइड्रोजन पैदा करना है।”

अंबानी ने कहा कि पहले घोषित धीरूभाई अंबानी ग्रीन एनर्जी गीगा कॉम्प्लेक्स जामनगर में 5,000 एकड़ में एक सुविधा स्थापित कर रहा है, जिसका उद्देश्य 2030 तक कम से कम 100GW सौर ऊर्जा स्थापित करना और सक्षम करना है। उन्होंने कहा कि “सौर पीवी निर्माण के लिए, रिलायंस ने आरईसी सोलर में 100 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल की।”

Leave a Reply