मोहाली में बड़ा हादसा, 50 फीट की ऊंचाई से गिरा झूला, कई लोग गंभीर रूप से घायल

0
29

RIGHT NEWS INDIA: पंजाब के मोहाली जिले में एक मेले में रविवार रात को बड़ा हादसा हो गया। यहां के फेज-आठ के दशहरा मैदान में लगे मेले में रविवार रात ड्रॉप टावर झूला 50 फुट की ऊंचाई से अचानक नीचे गिर पड़ा।

झूले पर करीब 30 लोग सवार थे। सभी घायल हो गए। इनमें पुरुष-महिलाएं और बच्चे शामिल हैं। 13 लोगों को गंभीर चोटें आईं हैं। पांच को सिविल और शेष को निजी अस्पतालों में भर्ती करवाया गया है।

जिला प्रशासन ने जांच का आदेश दिया है। हादसे के बाद झूला संचालक कर्मचारियों समेत मौके से फरार हो गया। हादसे की सूचना मिलते ही एसडीएम सरबजीत कौर और नायब तहसीलदार अर्जुन ग्रेवाल मौके पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया। डीसी अमित तलवार ने कहा कि घटना की जांच करवाई जाएगी। जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

पंजाब के मोहाली में बड़ा हादसा हुआ है। ड्रॉप टावर झूले में तकनीकी खराबी आने की वजह से वह 50 फुट की ऊंचाई से गिर गया है। इसमें 30 लोग सवार थे। 10 लोगों को चोट आई। 

फेज-आठ के दशहरा ग्राउंड में लंदन ब्रिज नाम से मेला लगाया गया है। रविवार की छुट्टी के चलते यहां काफी संख्या में लोग पहुंचे थे। ड्रॉप टावर झूले के पास काफी भीड़ थी। झूले पर करीब 30 लोग सवार होकर आनंद ले रहे थे। झूला घूमते हुए ऊपर की ओर जा रहा था। टॉप पर पहुंचने से पहले उसमें अचानक खराबी आ गई। लोग कुछ समझ पाते उससे पहले सीट समेत 50 फुट से तेज गति से नीचे आकर गिरे।

हादसा इतना जबरदस्त था कि कई लोगों की सीट बेल्ट टूट गई और वो उछलकर सीट से बाहर आ गिरे। गनीमत यह रही कि कोई जानी नुकसान नहीं हुआ। झूले के नीचे गिरते ही संचालक और कर्मचारी भाग निकले। लोगों ने उनका पीछा करने कोशिश की लेकिन कोई हाथ नहीं आया। इस दौरान मेला स्थल पर भगदड़ मच गई। मौके पर पहुंचे डीएसपी सिटी-2 हरसिमरन सिंह बल ने कहा कि रविवार को मेले में काफी भीड़ थी। हम यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि यह हादसा कैसे हुआ। उसी के बाद मामला दर्ज किया जाएगा।

मेले में एंबुलेंस थी न प्राथमिक उपचार की सुविधा
लोगों ने बताया कि मेला स्थल पर आयोजकों की तरफ से किसी भी तरह की एंबुलेंस या प्राथमिक उपचार का कोई इंतजाम नहीं था। हादसा हुआ तो भगदड़ मच गई। इस बीच घायलों को अस्पताल कैसे पहुंचाया जाए, इसके लिए कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। मौके पर पहुंची पुलिस की पीसीआर ने घायलों को गाड़ी में बैठाकर अस्पताल पहुंचाया। बाद में प्रशासन के अधिकारियों ने सारे घायलों से मुलाकात कर उनका हाल जाना।

घायलों का इलाज कर रहे हैं, सारा स्टाफ बुला लिया है: डॉ. परमिंदर
सिविल अस्पताल के रात्रि इंचार्ज डॉ. परमिंदर ने बताया कि उन्हें जैसे ही हादसे की सूचना मिली सारे स्टाफ को मौके पर बुला लिया। सिविल अस्पताल में पहुंचे किसी भी व्यक्ति को हेड इंजरी नहीं थी। गले और पीठ में चोटें आईं हैं। एक व्यक्ति के नाक पर चोट लगी है। इसके अलावा घायलों के एक्स-रे करवाए जा रहे हैं। फिलहाल किसी को चंडीगढ़ रेफर करने की नौबत नहीं आई है।

जांच में पुलिस का पूरा सहयोग करेंगे: आयोजक
मेले के आयोजक सन्नी सिंह ने बताया कि यह हादसा कैसे हुआ, पता लगाया जाएगा। हालांकि अब तक तकनीकी खामी लग रही है। उन्होंने बताया कि वह इससे पहले कई मेले आयोजित कर चुके हैं लेकिन इस तरह का मामला कभी सामने नहीं आया। हम इस मामले में पुलिस का पूरा सहयोग करेंगे। उन्होंने बताया कि पहले मेला 31 अगस्त तक ही था लेकिन बाद में इसे 11 सितंबर तक बढ़ा दिया गया था।

Leave a Reply