Libya; सरकार और असंतुष्टों के बीच संघर्ष में 32 लोगों की मौत, 2020 के बाद पहली बार हुई इतनी बड़ी हिंसा

0
45

लीबिया में उथल-पुथल के बीच प्रतिद्वंद्वी सरकारों के समर्थकों में हुए संघर्ष के दौरान करीब 32 लोगों के मारे जाने के बाद सोमवार को हालात बिगड़ गए हैं। प्रधानमंत्री अब्दुल हमीद दबीबा और फाति बाशागा के समर्थकों के बीच बढ़ते तनाव के कुछ महीनों के बाद हिंसक झड़प हुई है।

हिंसा के बाद फिलहाल राजधानी त्रिपोली में तनावपूर्ण शांति है और सड़कों पर सन्नाटा है। गत दो दिनों से जारी हिंसा में कई जगहों पर आगजनी और अस्पतालों में तोड़फोड़ की खबरें हैं। कई इमारतों को भी आग के हवाले कर दिया गया है। लीबिया की राजधानी त्रिपोली में 2020 में हुए युद्धविराम के बाद ऐसी हिंसा भड़की है। दो साल से सामान्य तौर पर शांति के बाद यहां के हालात बिगड़े हैं। रविवार को सेना और विद्रोही गुटों में जमकर फायरिंग भी हुई। स्वास्थ्य मंत्रालय ने हिंसक झड़पों में 32 मौतों की पुष्टि की है।

सरकार-असंतुष्टों में बढ़ा गतिरोध

प्रधानमंत्री अब्दुल हमीद दबीबा के पद छोड़ने से इनकार के बाद असंतुष्ट बशाघा समर्थकों के साथ सरकार का गतिरोध काफी बढ़ गया है। वहीं हिंसक झड़पों के बाद दोनों पक्ष एक-दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं। जबकि विश्व शक्तियों ने शांति की अपील की है। दबीबा सरकार के मुताबिक, पश्चिमी शहर में हिंसक झड़पों की रोकथाम के लिए एक बैठक बुलाई गई थी, लेकिन बातचीत के बाद संघर्ष बढ़ गया। वहीं बाशाघा ने इस तरह की बातचीत से इनकार करते हुए पीएम दबीबा पर अवैध रूप से प्रशासन चलाने का आरोप लगाया।

Leave a Reply