धर्म स्वतंत्रता संशोधन विधेयक के खिलाफ दलित संगठनों के प्रदर्शन पर विधायक समेत अन्य पर प्राथमिकी दर्ज

0
34

शिमला। Shimla Theog MLA Rakesh Singha, धर्म की स्वतंत्रता संशोधन विधेयक के खिलाफ दलित संगठनों के प्रदर्शन पर प्राथमिकी दर्ज कर हेड कांस्टेबल प्यार सिंह ने मामला दर्ज करवाया है।

इसमें विधायक राकेश सिंघा का नाम भी शामिल है। पुलिस व प्रशासन की मनाही के बावजूद विधायक सहित अन्‍य लोग प्रदर्शन करते हुए आगे बढ़ गए। हेड कांस्‍टेबल ने एफआइआर में लिखा है कि जब वह शेर-ए-पंजाब माल रोड शिमला में मौजूद थे तो मंगलवार पौने एक बजे राकेश सिंघा विधायक ठियोग, जगत राम, डॉ ओंकार शाद, डॉ कुलदीप तंवर, डॉ किशोर डडवालिया, पूर्व मेयर संजय चौहान की अध्यक्षता में सीटीओ से करीब 350 लोग पहुंचे।

कार्यकारी मजिस्ट्रेट हीरा लाल और वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने उन्हें रुकने का आदेश दिया। उन्होंने आदेशों की अवहेलना की और राजभवन शिमला की ओर बैरिकेड्स पार करते हुए चले गए। केस एफआईआर नंबर 136/22,आईपीसी की धारा 143,188 दर्ज किया गया है।

हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा विधानसभा में धर्म की स्वतंत्रता संशोधन विधेयक 2022 को पारित किया गया है। इसके खिलाफ दलित संगठनों ने बीते मंगलवार को दलित शोषण मुक्ति मंच के बैनर तले शिमला में डीसी ऑफिस के बाहर धरना प्रदर्शन किया। राजभवन तक रैली निकालकर राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा। इसमें इस विधेयक को पारित न करने का आग्रह किया गया। इस प्रदर्शन में सीपीआईएम विधायक राकेश सिंघा भी मौजूद रहे।

Leave a Reply