मणिकर्ण के चोज नाले में बहे युवक का शव 50 दिनों बाद बरामद, दो लोग अभी तक लापता

0
45

कुल्लू। जिला कुल्लू के मणिकर्ण के चोज नाले में बहे युवक का शव करीब 50 दिन बाद बरामद हुआ है। यह युवक कांगड़ा जिला का रहने वाला बताया जा रहा है। युवक सहित चार लोग मणिकर्ण घाटी (Manikaran Valley) के चोज नाले में 6 जून को आई बाढ़ में बह गए थे।

जिसका शव बुधवार को चोज नाले में मलबे में दबा हुआ मिला है। मलबे में युवक का हाथ दिखाई देने के बाद स्थानीय लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस (Police) को दी। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मलबे से शव (Dead Body) को बाहर निकाला और कब्जे में लेकर अगाामी जांच शुरू कर दी है।

मिली जानकारी के अनुसार मणिकर्ण घाटी में 6 जून को चोज नाले में भयंकर बाढ़ आ गई थी। जिसकी चपेट में आने से युवक समेत चार लोग बह गए थे। इस बाढ़ में तीन मकान एक गैस्ट हाउस भी मलबे में पूरी तरह से बह गया था। मलबे में दबे लोगों का कहीं कोई पता नहीं चला था।

पुलिस और प्रशासन ने काफी दिनों तक लापता की तलाश की लेकिन उनका कोई सुराग नहीं लगा।इसी बीच एक युवक का शव सुंदरनगर (Sundernagar) झील के पास मिला था। वहीं दूसरा शव आज चोज नाले में मलबे में दबा हुआ पाया गया। यह शव कांगड़ा (Kangra) के रोहित चौधरी का बताया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि स्थानीय लोगों ने पुलिस को सूचना दी थी कि चोज नाले में मलबे में एक व्यक्ति का हाथ दिखाई दे रहा है, जिसके चलते यहां पुलिस और प्रशासन की टीम ने खुदाई का कार्य आरंभ किया और रात तक खुदाई करने के बाद शव बरामद किया गया। लिहाजा, पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए क्षेत्रीय अस्पताल पहुंचा दिया। मृतक युवक के परिजनों को भी इसकी सूचना दे दी है। इस नाले में आई बाढ़ के मलबे में बहे दो अन्य लोगों का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है।

Leave a Reply