ऊना में 12-32-16 खरीदने के लिए उमड़ी किसानों की भीड़, आलू की बिजाई के लिए मानी जाती है महत्वपूर्ण

0
45

ऊना। आलू की बिजाई के लिए जिले में इस समय 12-32-16 खाद की खरीद जोरों पर चल रही है। इसके लिए किसान इफको के गोदामों का रुख कर रहे हैं। आलू की बिजाई से पहले 12-32-16 खाद का छिड़काव महत्वपूर्ण माना जाता है।

जानकारी के अनुसार सितंबर माह की शुरुआत से जिले में आलू की बिजाई शुरू हो जाएगी। इसके लिए किसान बीज और खाद की खरीद कर रहे हैं। हालांकि खाद पर्याप्त मात्रा में होने के कारण कई बड़े किसानों ने पहले ही खरीद कर ली है। वहीं, कई किसान इस समय गोदामों का रुख कर रहे हैं। आलू की बिजाई के बाद फसल की अच्छी पैदावार के लिए 12-32-16 खाद काफी लाभकारी मानी जाती है। किसानों के लिए राहत की बात यह है कि इस बार खाद के लिए उन्हें भटकना नहीं पड़ रहा।

किसान मदन लाल, विनोद कुमार, मनीष कुमार ने कहा कि दो माह वाली आलू की फसल जिले में बड़े स्तर पर लगाई जाती है। ऐसे में कई बार खाद का संकट भी पैदा हो जाता है। लेकिन इस बार खाद आसानी से मिल रही है।

इफको ऊना के बिक्री अधिकारी मोहित शर्मा ने बताया कि प्रतिदिन 40 से 50 किसान खाद की खरीद करने पहुंच रहे हैं। कहा कि अभी भी गोदाम में पर्याप्त स्टॉक है और जरूरत पड़ने पर और खाद मंगवाई जाएगी। कहा कि किसानों का बोरी वाली खाद के साथ नैनो यूरिया की ओर भी रुझान बढ़ा है। इस बार किसान 12-32-16 खाद के साथ नैनो यूरिया भी खरीद रहे हैं।

इफको ऊना के उप महाप्रबंधक भुवनेश पठानिया ने बताया कि आलू की बिजाई को ध्यान में रखते हुए डेढ़ माह पहले ही 12-32-16 खाद की खेप मंगवा ली गई थी। कहा कि जिन क्षेत्रों में खाद की मांग अधिक रहती है, वहां जरूरत के हिसाब से पहले ही खाद भेजी जा चुकी है।

Leave a Reply