कुल्लू में बाहंग गांव आया ब्यास की बाढ़ की जद में, मकान और दुकानें करवाई खाली

0
26

कुल्लू। प्रदेश में भारी बारिश आफतों का अंबार लेकर आई है। जहां-तहां नुकसान की खबरें हैं। प्रदेश के लगभग जिलों में भारी बारिश का कहर बदस्तूर जारी है।

कहीं बादल फटने से नुकसान हो रहा है तो कहीं लैंडस्लाइडिंग (Land sliding) ने जोखिम बढ़ा दिया है। प्रदेश में नदी-नाले पूरे उफान पर हैं। कहीं-कहीं नदियों का जलस्तर बढ़ जाने से बाढ़ जैसा संकट पैदा हो गया है। कुल्लू (Kullu) में ब्यास नदी में बाढ़ आ जाने से बाहंग (Bahang) गांव खतरे की जद में है। लोग दहशत में आ गए हैं। ऐसी स्थिति देखकर प्रशासन भी अलर्ट हो गया है। आसपास के मकानों और दुकानों को खाली करवा दिया गया है। पर्यटकों और स्थानीय लोगों को नदी-नालों के आसपास ना जाने की चेतावनी दी गई है। भारी बारिश के चलते मनाली-लेह और ग्रांफू-काजा और उदयपुर-पांगी का मार्ग बंद हो गया है। दोनों ओर वाहन फंस गए हैं। वहीं भारी बारिश के चलते नाशपाती और सेब सीजन भी प्रभावित हो रहा है।

प्रदेश में भारी बारिश का दौर तो चला हुआ है मगर 30 जुलाई तक सामान्य से दो प्रतिशत अधिक बारिश हुई है। चंबा, लाहौल स्पीती, सिरमौर और ऊना (Una) में हालांकि कम बारिश देखने को मिल रही है। वहीं कांगड़ा में सामान्य बारिश रिकॉर्ड की गई है। तीस दिनों में अब तक हिमाचल प्रदेश में 251.7 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई है।

Leave a Reply