Artemis Fuel Tank Leakage: फ्यूल टैंक में खराबी के कारण रुकी आर्टमिस-1 की लॉन्चिंग

0
55

फ्लोरिडा: अमेरिकी अतंरिक्ष एजेंसी (नासा) ने सोमवार को सबसे शक्तिशाली आर्टेमिस-1 रॉकेट की बहुप्रतिक्षित लॉन्चिंग को इसलिए रोक दिया क्योंकि रॉकेट वैज्ञानिकों ने लॉन्चिंग से ठीक पहले एक इंजन की खराबी की समस्या बता दी।

नासा के मुताबिक अगर उनका यह शक्तिशाली मानव रहित आर्टेमिस-1 रॉकेट प्रक्षेपण में कामयाब रहता तो उससे मनुष्यों को चंद्रमा और मंगल ग्रह से वापस लाने का काम लिया जाता।

जानकारी के मुताबिक नासा की ओर से इस रॉकेट को सुबह 8:33 बजे (1233 जीएटी) पर अंतरिक्ष के लिए प्रक्षेपित किया जाना था। 322 फुट (98 मीटर) ऊंचे इस रॉकेट को स्पेस लॉन्च सिस्टम (एसएलएस) को चार इंजनों की सहायता से छोड़ा जाना था, जिसमें से एक इंजन में तापमान की समस्या आ गई।

इस कारण रॉकेट के प्रक्षेपण को टालना पड़ा। इसे नासा ने अपोलो 17 अभियान के करीब आधी सदी बाद चंद्रमा की कक्षा में एक खाली क्रू कैप्सूल को भेजने के लिए तैयार किया है।

बताया जा रहा है कि अमेरिकी उप राष्ट्रपति कमला हैरिस सहित हजारों लोग इस रॉकेट के प्रक्षेपण को देखने के लिए फ्लोरिडा स्थित कैनेडी स्पेस सेंटर के पास समुद्र तट पर इकट्ठा हुए थे।

नासा के अधिकारियों ने कहा कि शनिवार को आई आंधी के दौरान केनेडी स्पेस सेंटर स्थित रॉकेट और कैप्सूल को कोई नुकसान नहीं हुआ और रविवार रात में आर्टेमिस-1 में करीब तीन मिलियन लीटर से अधिक अल्ट्रा-कोल्ड तरल हाइड्रोजन और ऑक्सीजन को भरा गया था। रॉकेट में ईंधन भरते समय रात में बिजली भी गिरी थी लेकिन लगभग एक घंटे के बाद हम आर्टेमिस-1 के प्रक्षेपण के लिए पूरी तरह से तैयार थे।

वैज्ञानिकों को रात में लगभग 3:00 बजे आर्टेमिस-1 में हाइड्रोजन से भरते समय एक संभावित रिसाव का पता चला, जिससे लॉन्चिंग को टाला गया है। इस सिलसिले में नासा के वैज्ञानिकों ने शुरूआती चरण में कहा कि उतने रिसाव से कोई खतरनाक आशंका नहीं बनती है और हम अभियान को जारी रखेंगे।

लेकिन जब नासा के इंजीनियरों ने चार इंजनों में से एक में तापमान की समस्या का पता लगाया तो उन्होंने फैसले किया कि आर्टेमिस-1 की उलटी गिनती को रोक दिया जाए। नासा ने यह फैसला तब लिया जब आर्टेमिस-1 के प्रक्षेपण में महज दो घंटे शेष बचे थे।

Leave a Reply