डॉक्टर राज बहादुर के साथ दुर्व्यवहार पर पूरे हिमाचल में आक्रोश, विपक्ष ने भी कहा, घटना शर्मनाक

0
32

शिमला। Dr Raj Bahadur, ऊना जिले के निवासी प्रोफेसर (डा.) राज बहादुर के साथ शुक्रवार को पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री चेतन सिंह जौड़ामाजरा द्वारा किए गए दुव्र्यवहार के खिलाफ हिमाचल के लोगों में गुस्सा है।

पूरा हिमाचल डा. राज बहादुर के साथ खड़ा हुआ है। भाजपा और कांग्रेस ने उनसे दुव्र्यवहार करने की निंदा की है। भाजपा के प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना, कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता कुलदीप राठौर और प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष राजेंद्र राणा ने घटना को शर्मनाक करार दिया है।

खन्ना ने कहा कि डा. राज बहादुर पंजाब के लिए एक संपत्ति हैं। पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार ने उनके साथ जिस तरह का व्यवहार किया है वह अस्वीकार्य है। हम पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री के तत्काल इस्तीफे की मांग करते हैं। वहीं, राजेंद्र राणा ने कहा कि डा. राज बहादुर की प्रतिभा का देश व विदेश के चिकित्सा जगत ने लोहा माना है। उनके साथ दुव्र्यवहार से हिमाचल की जनता के स्वाभिमान पर भी चोट है।

पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री को तुरंत बर्खास्त नहीं किया तो मंत्री को हिमाचल आने पर विरोध का सामना करना पड़ेगा। शुक्रवार को पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री चेतन सिंह जौड़ामाजरा ने गुरु गोबिंद सिंह मेडिकल कालेज का निरीक्षण के दौरान डा. राज बहादुर से दुव्र्यवहार किया था, उन्हें अस्पताल में फटे गद्दे वाले बिस्तर पर लिटाया था।

डाक्टर समर्थन में आए

स्टेट मेडिकल एंड डेंटल कालेज टीचर्स एसोसिएशन (सेमडिकोट) ने हिमाचल प्रदेश से संबंध रखने वाले और आइजीएमसी शिमला के छात्र रहे प्रो. (डा.) राज बहादुर से दुर्व्‍यवहार की निंदा की है। यहां जारी बयान में सेमडिकोट के पदाधिकारियों ने कहा कि प्रो. राज बहादुर बाबा फरीद चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति के अलावा शिक्षाविद, प्रसिद्ध स्पाइनल सर्जन हैं। प्रो. राज बहादुर न केवल भारत में बल्कि दुनियाभर में एक बहुत वरिष्ठ और सम्मानित डाक्टर हैं। इस तरह की घटनाएं चिकित्सकों के मनोबल और गरिमा को कम करने के साथ सरकारी संस्थानों से पलायन को मजबूर करती हैं। आल एलोपैथिक डाक्टर एसोसिएशन की संयुक्त एक्शन कमेटी ने शनिवार को बैठक बुलाकर डा. राज बहादुर के साथ हुए दुव्र्यवहार की निंदा की है। कमेटी के अध्यक्ष डा. राजेश सूद ने कहा कि इसे स्वीकार नहीं किया जाएगा। हर स्तर पर इसका विरोध किया जाएगा।

Leave a Reply