Shimla News: 600 करोड़ की लागत से बनेगा विश्व का दूसरा सबसे ऊंचा पुल, जाने कितनी होगी ऊंचाई

0
2

हिमाचल में 600 करोड़ रुपए की भारी-भरकम लागत से विश्व का दूसरा सबसे ऊंचा पुल बनने जा रहा है। कालका-शिमला नेशनल हाई-वे में इस पुल के निर्माण को लेकर सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं। आगामी तीन साल में यह पुल बनकर तैयार होगा। नेशनल हाई-वे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) ने इस पुल के निर्माण का जिम्मा गावर इन्फ्रास्ट्रक्चर कंपनी को सौंपा है।

इस पुल के लिए तैयार होने वाले पिल्लर की कुल ऊंचाई 826 फीट रहेगी। इस पुल का निर्माण शकराल में होगा। गौरतलब है कि नेशनल हाई-वे अथॉरिटी ऑफ इंडिया कालका से शिमला तक मार्ग का निर्माण कर रही है। इस नेशनल हाई-वे को तीन चरणों में बनाया जा रहा है।

इनमें कालका से सोलन और सोलन से कैंथलीघाट दो चरणों का निर्माण काफी समय से चल रहा है, जबकि तीसरे चरण को लेकर हाल ही में टेंडर प्रक्रिया पूरी की गई है। कैंथलीघाट से ढली तक बनने वाले इस मार्ग को आकर्षक बनाने के लिए एनएचएआई ने ड्राइंग पर काम किया है। नेशनल हाई-वे के इस हिस्से में 28.46 किलोमीटर का निर्माण होना है। इसमें पांच सुरंगों का निर्माण किया जाना है। इन सुरंगों से 5.14 किलोमीटर का हिस्सा सुरंग के बीच से होकर गुजरेगा। 2.14 किलोमीटर की सुरंग सबसे ज्यादा लंबी होगी। एनएचएआई इस हिस्से के निर्माण पर 3915 करोड़ रुपए खर्च करेगी। फिलहाल पुल निर्माण को लेकर टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। उधर, एनएचएआई के क्षेत्रीय अधिकारी अब्दुल बासित ने बताया कि कालका-शिमला नेशनल हाई-वे विश्व के सबसे सुंदर एनएच में से एक होगा।

इस नेशनल हाई-वे में आधा दर्जन से ज्यादा सुरंगें, पुल और फ्लाईओवर बनने जा रहे हैं। सबसे ऊंचा पुल शिमला के करीब शकराल में बनने जा रहा है। इसके अलावा सुरंगों का भी निर्माण किया जा रहा है। यह नेशनल हाईवे फ्लाईओवर से होकर गुजरेगा, जबकि सुरंगों का निर्माण भी किया जा रहा है। नेशनल हाई-वे के दो हिस्से लगभग पूरे कर लिए गए हैं। जबकि तीसरे हिस्से का टेंडर जारी कर दिया गया है। आगामी तीन साल में यह एनएच बन कर तैयार हो जाएगा। नेशनल हाई-वे के निर्माण के बाद शिमला में यातायात जाम से भी राहत मिलेगी।

समाचार पर आपकी राय: