क्या महज़ बिना बताए दोस्त से मिलने जाने पर श्रद्धा का हुआ क़त्ल, पुलिस ने चार्जशीट में किया खुलासा

0

ल्दिल्ली में सामने आएं श्रद्धा वालकर हत्याकांड में दिल्ली पुलिस ने कोर्ट में कातिल बॉयफ्रेंड आफ़ताब के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दिया हैं। पुलिस ने महज 75 दिनों के भीतर ही कोर्ट में सबूतों और गवाहों के बयानों के साथ इसे पेश कर दिया। दिल्ली पुलिस ने इस चार्जशीट में आफताब के कारनामों का पूरा चिट्ठा खोल दिया हैं। लेकिन सबसे अहम इस बात का खुलासा किया हैं की श्रद्धा की ह्त्या किन वजहों से की गई थी और ह्त्या की रात श्रद्धा और आफताब के बीच क्या कुछ हुआ था।

पुलिस की तरफ से दाखिल आरोपपत्र के मुताबिक श्रद्धा ह्त्या से ठीक पहले अपने एक फ्रेंड से मिलने गुरुग्राम गई हुई थी। लेकिन वहाँ जाने से पहले उसने अपने बॉयफ्रेंड आफ़ताब को इसकी जानकारी नहीं दी थी। पुलिस ने बताया हैं की श्रद्धा के इस कदम से बॉयफ्रेंड आफताब बेहद नाराज हुआ था और इसी बात को लेकर दोनों के बीच बहस भी हुई थी। नाराज आफताब ने श्रद्धा के साथ जमकर मारपीट भी की थी। लेकिन फिर अगले ही दिन उसका पारा और चढ़ा और उसने श्रद्धा की हत्या कर निर्ममता उसके लाश के टुकड़े करने शुरू कर दिए। पुलिस ने इस बात को प्रमाणित करने के लिए कोर्ट के सामने ऑडियो क्लिप्स और व्हाट्सप्प में हुए चैट का पूरा ब्योरा भी रखा हैं।

हालाँकि पुलिस का मानना यह भी हैं की सिर्फ एक वज़ह नहीं थी जो श्रद्धा की हत्या के लिए जिम्मेदार हैं। आफताब और उसके बीच सम्बन्ध मधुर नहीं थे। दोनों के बीच आएं दिन विवाद होता था। यहाँ तक की श्रद्धा की पिटाई भी होती थी। आफ़ताब श्रद्धा को उसकी मर्जी से कोई काम करने नहीं देता था और यही वज़ह हैं की श्रद्धा ने दोस्त से मिलने जाने की जानकारी आफताब को नहीं दी थी। आफताब उसपर शक करने लगा था और उसे उसके दोस्तों से भी मिलने नहीं देता था। लिव इन में रह रहे इस जोड़े के लिए आपसी सामंजस्य और समझदारी खत्म हो चुकी थी और आखिर में यह हत्या के तौर पर सामने आया।

बता दे की दिल्ली पुलिस ने पिछले साल दिल्ली में एक युवती की हत्या का खुलासा किया था। जांच-पड़ताल में यह पता चला की मरने वाली श्रद्धा महाराष्ट्र की रहने वाली थी और दिल्ली में अपने दोस्त के साथ लिव इन में रह रही थी. जाँच बढ़ी तो मालूम चला की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि खुद उसके पुरुषमित्र आफताब ही हैं. कातिल आफताब को पिछले साल 12 नवंबर को हिरासत में लिया गया था. पूछताछ में उसके बताया था की पिछले साल के मई में उसने श्रद्धा को मौत के घाट उतार दिया था. लेकिन इसके बाद हुए कातिल के खुलासे ने न सिर्फ पुलिस बल्कि पूरे देश को हैरान कर दिया. आफताब के मुताबिक़ उसने श्रद्धा के शव के 35 टुकड़े कर उसे अलग-अलग जगहों पर फेंक दिया था. इन खुलासो के बाद मामले ने काफी सुर्खियां बटोरी थी। देश और दुनिया में इस घटना को लेकर काफी चर्चा रही। पुलिस पर आफ़ताब को सजा दिलाने का दबाव बढ़ता जा रहा था लिहाजा 90 दिनों के बजाये 75 दिनों में ही पुलिस ने इस मामले में आरोपपत्र कोर्ट में दाखिल कर दिया।

Previous articleजानें किस कानून के उल्लंघन पर फूड डिलीवरी एप पर लगा 5 अरब रुपये का जुर्माना
Next articleऊना न्यूज: लावारिश युवती की डेड बॉडी मिलने के 30 घंटे बाद भी नही हुई पहचान, फॉरेंसिक टीम ने जुटाए सबूत

समाचार पर आपकी राय: