कुदरत का कहर; स्पेन के ला पालमा द्वीप पर एक माह बाद भी धधक रहा ज्वालामुखी, हजारों घर राख

स्पेन के ला पालमा द्वीप पर ज्वालामुखी नदी की तरह बहने लगा है। स्पेन के नेशनल जियोलॉजिकल इंस्टीट्यूट ने शनिवार को बताया कि एक माह पहले धधकना शुरू हुए ज्वालामुखी ने भयावह रूप ले लिया है।

बह रहे ज्वालामुखी से लोगों को बचाने के लिए उनको घरों से निकाल सुरक्षित जगह पहुंचाया जा रहा है।

ला पालमा द्वीप पहुंची जर्मन रिसर्च सेंटर फॉर जियो साइंसेज के वैज्ञानिकों ने बताया है कि ज्वालामुखी 6,300 मीटर लंबा है, एक हजार मीटर चौड़ा और 25 मीटर मोटी है। इसी से इसकी भयावहता को आंका जा सकता है।

24 घंटे में 16 बार भूकंप
ज्वालामुखी से लाल हुआ ला पालमा द्वीप भूकंप से भी थर्राने लगा है। एनजीआई ने बताया है कि पिछले ज्वालामुखी के प्रचंड रूप के कारण बीते 24 घंटे में 3.5 तीव्रता के भूकंप के 16 झटके महसूस किए जा चुके हैं। एनजीआई ने बताया कि ज्वालामुखी के रौद्र रूप के बाद शनिवार को 37 बाद भूगर्भीय हलचल दर्ज की गई। इसमें सबसे तेज हलचल रिक्टर पैमाने पर 4.1 थी। ज्वालामुखी के भय से ला पालमा एयरपोर्ट पिछले माह से बंद है।

जीवन पर असर

  • 83 हजार लोगों का द्वीप पर ठिकाना, अब खतरा
  • 6 हजार लोग ला पालमा द्वीप के बाशिंदे, सभी परिवार घर छोड़ भागे
  • 1150 भवनों को लावा से अब तक भारी नुकसान हो चुका है
  • 1190 एकड़ जमीन पूरी तरह तबाह हो चुकी है
  • 370 एकड़ में हो रही केले की खेती पूरी तरह बर्बाद हो चुकी है।
error: Content is protected !!