Twitter Controversy: जो काम करेगा, वही रुकेगा, कर्मचारियों के सामूहिक इस्तीफे पर एलन मस्क का बयान

0
2

RIGHT NEWS INDIA: एलन मस्क की ओर से ट्विटर कर्मचारियों से सप्ताह में 80 घंटे काम करने को कहा गया है। इसके अलावा अन्य तमाम सुविधाएं भी वापस ली गई हैं और तत्काल प्रभाव से वर्क फ्रॉम ऑफिस लागू कर दिया गया है।

इसके बाद से ही ट्विटर कर्मचारियों के इस्तीफे जारी हैं और सैकड़ों लोगों ने नौकरी छोड़ दी है। इसके बाद से ही ट्विटर के भविष्य को लेकर सवाल उठ रहे हैं। इस बीच एलन मस्क ने एंप्लॉयीज के नौकरियां छोड़ने पर टिप्पणी की है। उन्होंने कहा है कि अच्छे लोग रुके हुए हैं। मुझे कोई खास चिंता नहीं है। एलन मस्क ने ट्वीट करके यह बात कही है।

एलन मस्क ने गुरुवार को ही कहा था कि जो लोग हार्डकोर वर्क कल्चर में काम करने के लिए तैयार नहीं हैं, उन्हें छोड़कर जाना होगा। मस्क के इस ऐलान के बाद बहुत से कर्मचारियों ने बाहर निकलने का ही रास्ता चुन लिया। इसके चलते ट्विटर ने अपने मुख्यालय को सोमवार तक के लिए बंद कर दिया है। कर्मचारियों के इस्तीफे के बाद एलन मस्क ने एक और ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने कहा कि ट्विटर का इस्तेमाल ऑल टाइम हाई लेवल पर पहुंच गया है। ट्विटर को एलन मस्क ने 44 अरब डॉलर में खरीदा है। ट्विटर के अधिग्रहण के बाद से ही एलन मस्क ने कई बड़े बदलाव किए हैं, जिसे लेकर उनकी तीखी आलोचना हो रही है।

ट्विटर को खरीदने के बाद से वह आधे कर्मचारियों को कंपनी से बाहर कर चुके हैं। इसके चलते 7,500 लोग प्रभावित हुए हैं। उन्होंने वर्क फ्रॉम होम की पॉलिसी को तत्काल प्रभाव से खत्म कर दिया है और नौकरी के घंटों में भी बड़ा इजाफा किया है। एलन मस्क का कहना है कि कंपनी को मुनाफे में लाने के लिए यह फैसला लिया गया है। गौरतलब है कि एलन मस्क ने एक फैसला वेरिफाइड यूजर्स से 8 डॉलर प्रति महीने फीस वसूलने का भी लिया है। उनका कहना है कि वह रेवेन्यू का बड़ा हिस्सा सबस्क्रिप्शन फीस से जुटाना चाहते हैं।

समाचार पर आपकी राय: