32 लोगों की मौत से नेपाल में कोहराम, खाई में बस गिरने से हुआ हादसा

महराजगंज। नेपाल के सुर्खेत जिले के मुगु के पास यात्रियों से भरी बस के अनियंत्रित होकर सैकड़ों फीट गहरी खाई में गिरने के बाद नेपाल में कोहराम मचा गया।

चारों तरफ मची चीख पुकार से सभी दहल गए। नेपाल सरकार ने राहत व बचाव कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। 32 लोगों की मौत हो चुकी है। घायल 12 लोग अस्पताल में भर्ती हैं। इनमें से पांच की हालत गंभीर बताई जा रही है।

नेपाल के करनाली प्रांत के सुर्खेत जिले के पहाड़ी इलाके में जैसे ही बस हादसे की सूचना मिली , स्थानीय प्रशासन को अलर्ट करते हुए राहत व बचाव दल को मौके पर भेज दिया गया। घायलों के मुताबिक अभी वह मुगु पहुंचने ही वाली थी कि एक मोड़ पर बस चालक ने स्टेयरिंग से अपना नियंत्रण खो दिया और यात्रियों से भरी बस खाई में जा गिरी। आसपास के ग्रामीणों व नेपाल प्रहरी के जवान खाई में बस तक पहुंच कर राहत व बचाव कार्य में जुट गए। करनाली प्रदेश प्रहरी कार्यालय के निरीक्षक जीवन लामीछामे का कहना है कि बस हादसे में 32 लोगों की मौत हुई है। गंभीर रूप से घायल लोगों को बेहतर इलाज के लिए काठमांडू भेजा जा रहा है

जगह-जगह रोड खराब होने से बढ़ा मार्ग दुर्घटना का ग्राफ

नेपाल में पिछले दिनों हुई भारी बारिश व भूस्खलन के चलते जगह-जगह रोड खराब हो गई है। किसी तरह मलबे को हटा कर आवागमन चालू किया गया है। मार्ग पतला होने से इधर नेपाल में मार्ग दुर्घटनाओं का ग्राफ बढ़ गया है। भारत नेपाल सीमा खुलने के बाद पर्यटक वाहनों की संख्या भी बढ़ी है। ऐसे में जगह-जगह ट्रैफिक जाम की समस्या भी उत्पन्न हो रही है।

बुटवल में तीसरे दिन भी जारी है कर्फ्यू

नेपाल के रुपनदेही जिला के बुटवल के पास मोतीपुर क्षेत्र में पुलिस व नागरिकों के संघर्ष में मारे गए चार में से तीन नागरिकों की पहचान हो गई हैं। मृतकों में कपिलवस्तु वाणगंगा नगर पालिका वार्ड 10 निवासी रमेश परियार, रुपनदेही के शुद्धोधन नगर पालिका वार्ड पांच निवासी वीरेंद्र कुर्मी व नवलपरासी जिला के बर्दघाट निवासी युजन कुमार शामिल हैं। एक अन्य मृतक की अभी तक शिनाख्त नहीं हो पाई है। प्रदेश सरकार ने पूरे घटना की उच्चस्तरीय जांच बैठाते हुए सशस्त्र पुलिस की फायरिंग से मारे गए नागरिकों के स्वजनों को एक-एक लाख रुपये मुआवजे की घोषणा की है। जबकि घटना में घायल 31 नागरिकों के इलाज निश्शुल्क कराने के निर्देश दिए हैं। मोतीपुर के विवादित क्षेत्र में कर्फ्यू का सिलसिला तीसरे दिन भी जारी है। प्रदेश सरकार के संचार व आंतरिक मामलों के प्रवक्ता तिलक राम शर्मा ने बताया कि मृतक के परिवार वालों को एक लाख रुपया मुआवजा दिया जाएगा। मामले की जांच शुरू कर दी गई है कि विवाद बढ़ा कैसे। सीडीओ रुपनदेही ऋषिराम तिवारी का कहना है कि विवाद न बढ़े इसके लिए कर्फ्यू लगाया गया है।

महराजगंज बेसिक शिक्षा विभाग में अनुदेशक के पद पर तैनात जितेंद्र शर्मा ने अपने मित्रों के साथ विश्व की सबसे ऊंची पर्वत श्रेणी माउंट एवरेस्ट के बेस कैंप पर पहुंचने में सफलता पाई है। वहां भारतीय ध्वज फहरा कर जिले का नाम रोशन किया है। इस सफलता पर अनुदेशक संघ के प्रदेश अध्यक्ष राकेश पटेल सहित महराजगंज के शिक्षक साथियों ने उन्हें बधाई दी है।

error: Content is protected !!